शोहरतगढ़- सरस्वती विद्या मंदिर पर शाखा के समय आयोजित हुआ सुपोषण एवं संरक्षण अभियान के तहत प्रकृति पूजन कार्यक्रम

0
54

● प्रकृतिवादी होने से संरक्षित होगा जीवन आरएसएस द्वारा भूमि सुपोषण एवं संरक्षण अभियान का आयोजन

● हमारे देश में लोग पृथ्वी को माता और स्वंय को पुत्र मानते हैं, प्रकृति से ही है जीवन का प्रारंभ- त्रिपुरारी (नगर प्रचारक)

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

शोहरतगढ़ कस्बे के सरस्वती विद्या मंदिर पर शुक्रवार को राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (आरएसएस) ने सुबह लगने वाले माधव प्रभात शाखा पर भूमि सुपोषण एवं संरक्षण अभियान के तहत प्रकृति पूजन का आयोजन किया गया। इस दौरान नगर प्रचारक त्रिपुरारी ने कहा कि हमारे देश में लोग पृथ्वी को माता और स्वंय को पुत्र मानते हैं। जीवन का प्रारंभ ही प्रकृति से है। हमें पूर्ण रूप से प्रकृतिवादी होना पड़ेगा, तभी जीवन सुरक्षित है।

प्रधानाचार्य धर्मेंद्र कुमार मिश्र ने कहा कि वर्तमान वैज्ञानिक युग में हम अपने स्वार्थ के वशीभूत होकर प्रकृति का दोहन करते जा रहे हैं और पूरी तरह से प्रकृति को भूल गये हैं। जिसका परिणाम कोरोना जैसी महामारी के रूप में सामने दिख रहा है। हम सभी को प्रकृति के संरक्षण एवं संवर्धन पर ध्यान आकर्षित करना होगा। इसी के चलते हम सबका अस्तित्व बच सकता है।

इस दौरान आचार्य कृष्ण दत्त शुक्ल ने वैदिक मंत्रोच्चारण से भूमि सुपोषण एवं संरक्षण अभियान के तहत प्रकृति का आह्रवाहन कर पूजन किया। इसके अलावा शिव बाबा मंदिर के बगल श्रीराम गोशाला में गौ माता का पूजन किया गया। कार्यक्रम में नगर कार्यवाह श्यामू, जय प्रकाश, विपिन तिवारी, आशीष गुप्ता, महेंद्र मिश्र, मधु गुप्ता, सीमा गुप्ता, कविता तिवारी, ओम प्रकाश मिश्र, अरुणेश मणि त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here