वृहद स्तर पर मनाएंगे खुशहाल परिवार दिवस, 21 दिसम्बर को जिले की 15 चिकित्सा इकाइयों, 104 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर व 57 एडिशनल पीचसी पर मनाए जाएंगे दिवस

0
89

● पिछले माह से शासन के दिशा-निर्देश पर शुरू हुई पहल, प्रत्येक माह होंगे आयोजन

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
सिद्धार्थनगर

जिले की सभी स्वास्थ्य इकाईयों पर 21 दिसंबर को खुशहाल परिवार दिवस वृहद स्तर पर मनाया जाएगा। इसमें जिले में सभी 15 चिकित्सा इकाईयों, 104 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर व 57 एडिशनल पीएचसी पर यह दिवस आयोजित होंगे। परिवार नियोजन को बढ़ावा देने के लिए शासन ने पिछले माह खुशहाल परिवार दिवस मनाने की पहल की है। इस दिवस को प्रत्येक माह की 21 दिसंबर को मनाया जाएगा।

सीएमओ डॉ. आईवी विश्वकर्मा ने बताया कि इन आयोजनों मे एक जनवरी 2020 के बाद चिन्हित उच्च जोखिम गर्भावस्था (एचआरपी) व नवविवाहित दम्पत्ति के अलावा तीन या तीन से अधिक बच्चों वाले दम्पत्ति और एक या दो बच्चों वाले दम्पत्ति को परिवार नियोजन से संबंधित सेवाओं के बारे में बताया जाएगा। उपलब्ध अस्थायी सेवाएं मौके पर प्रदान की जाएंगी, जबकि नसबंदी जैसी स्थायी सेवाओं के लिए पंजीकरण किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि नोडल अधिकारी डॉ. सौरभ चतुर्वेदी की  देखरेख में स्वयंसेवी संस्थाओं यूपीटीएसयू के तकनीकी सहयोग से जिले में परिवार नियोजन सेवाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। शासन के दिशा-निर्देश पर अब प्रत्येक माह की 21 तारीख को खुशहाल परिवार दिवस मनाया जाना है। पिछले माह की अपेक्षा इस माह यह आयोजन बृहद स्तर पर होना है। चिकित्सा अधिकारियों को दिशा-निर्देशित किया गया है कि इस मौके पर प्रयास किया जाए कि परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने वाले दम्पत्ति का स्वास्थ्य इकाइयों पर सम्मान हो और उनके अनुभव भी साझा किये जाएं। उन्होंने बताया कि जो लोग इन सेवाओं को आगे बढ़ कर अपनाना चाहते हैं वह निजी अस्पतालों और सरकारी अस्पतालों तक पहुंचने के लिए अपने क्षेत्र की आशा कार्यकर्ता का सहयोग ले सकते हैं।

शत प्रतिशत साधन की उपलब्धता होगी- अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (परिवार कल्याण) डॉ. सौरभ चतुर्वेदी ने बताया कि शासन से मिले दिशा-निर्देशों के अनुसार परिवार नियोजन की साधनों की सभी इकाइयों पर शत-प्रतिशत उपलब्धता सुनश्चिति कराई जा रही है। इस बार लाभार्थियों में भी दस फीसदी बढ़ोत्तरी करने का प्रयास है। शुभारंभ स्थानीय जनप्रतिनिधियों से करवाया जाएगा और इस बारे में आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से सामुदायिक स्तर पर प्रचार-प्रसार करवाया जा रहा है। 

यह लोग करेंगे सहयोगात्मक पर्यवेक्षण- एसीएमओ डॉ. सौरभ चतुर्वेदी के साथ डीपीएम राजेश शर्मा, डीसीपीएम मानबहादुर, मैटरनल हेल्थ कंसल्टेंट प्रमोद कुमार संत और यूपीटीएसयू से जुड़े जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ सहयोगात्मक पर्यवेक्षण करेंगे। इसके अलावा स्वास्थ्य इकाईयों के अधिकारी व क्षेत्रीय आशा का भी महत्वपूर्ण योगदान होगा। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here