मानव तस्कर के चंगुल से बची नेपाली लड़की, इंडोनेपाल के खुनुवा बॉर्डर से PRC ग़ैर-सरकारी संगठन व एस.एस.बी. की संयुक्त पूछताछ में तस्करी का पर्दाफाश, गोरखपुर ले जाने की फिराक में था युवक

0
105

● इंडोनेपाल के खुनुवा बॉर्डर पर एसएसबी व PRC ग़ैर-सरकारी संगठन की नज़रे रहती है पैनी

● पूर्व में भी इंडोनेपाल के खुनुवा बॉर्डर से कई मामलों का किया गया पर्दाफ़ाश

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

43वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल की सीमा चौकी खुनुवा के जवानों ने मंगलवार को मानव तस्करी का फिर पर्दाफ़ाश किया है। जानकारी के मुताबिक सशस्त्र सीमा बल की सीमा चौकी खुनुवा प्रभारी व PRC गैर सरकारी संगठन की प्राथमिक पूछ-ताछ से पता चला कि, मानव तस्कर लड़की को शादी का झाँसा देकर लड़की के घर वालो को बिना बताए नेपाल से भारत के गोरखपुर शहर ले कर जा रहा था।

जाँच पड़ताल के बाद पीड़ित लड़की के साथ मानव तस्कर को स्थानीय गैर सरकारी संस्था की उपस्थिति में नेपाल पुलिस चौकी मर्यादपुर, जिला- कपिलवस्तु (नेपाल) को अग्रिम कार्यवाही हेतु सुपुर्द कर दिया गया। मानव तस्कर का नाम, राज कुमार मौर्या पुत्र रामजीत मौर्या, गाँव-कपसी वार्ड नं०-06, थाना-पकड़ी, जिला-कपिलवस्तु (नेपाल) बताया गया।

कार्यवाहक-कमांडेंट अमित सिंह ने कहा की वर्तमान समय में मानव तस्करी के मामलों पर सशस्त्र सीमा बल के द्वारा पैनी नजर रखी जा रही है जिससे कि किसी भी गरीब परिवारों के बच्चों और लड़कियों को मानव तस्करी में संलिप्त व्यक्ति, नौकरी, शादी व प्यार का झांसा दे कर तथा बहला फुसला कर नेपाल से भारत या भारत से नेपाल तस्करी न कर पाए और उनका शोषण न हो सकें ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here