तस्करों के चंगुल से बचाई गयी नेपाली लड़की, एस०एस०बी० खुनुवा के जवानों ने दोनों देशों के गैर सरकारी सेवा संस्थाओं के सहयोग से खोली तस्करी की पोल

0
134

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

शनिवार की देर रात्रि 43 वाहिनी सशस्त्र सीमा बल की सीमा चौकी खुनवा के जवानों ने सीमा स्तम्भ संख्या 556 (53) के पास नेपाल से भारत आ रही एक नेपाली लड़की को मुखबिर की सूचना पर तस्कर के चँगुल में फँसने से बचाया है। सीमा चौकी खुनुवा के प्रभारी व दोनों देशों के मानव तस्करी के गैर सरकारी सेवा संस्थाओं के कार्यकर्त्ताओं द्वारा गहनता से पूछ-ताछ की गई तो पीड़िता नेपाली लड़की ने बताया गया कि निर्मल थापा ने भारत के शहर दिल्ली में नॉकरी दिलाने का झासा दिया था। जिसके बारे में जाँच पड़ताल करने पर पता चला कि वह व्यक्ति पीड़िता नेपाली लड़की को झूठा झांसा दे रहा था। एसएसबी टीम ने बताया कि जाँच पड़ताल के बाद सीमा चौकी प्रभारी खुनुवा के द्वारा स्थानीय पुलिस चौकी खुनुवा के इंचार्ज विक्रम अजीत राय ,दोनों देशों के गैर सरकारी संस्थान की मौजूदगी में पीड़िता नेपाली लड़की को नेपाल पुलिस चौकी मर्यादपुर, जिला- कपिलवस्तु (नेपाल) को अग्रिम कार्यवाही हेतु सुपुर्द कर दिया गया।

जानकारों की माने तो कोविड-19 संक्रमण को लेकर एक तरफ बेरोजगारी का आलम, तो वही भारत नेपाल सीमावर्ती क्षेत्रों में मानव तस्करी की चर्चा भी आम है। ऐसे में इन सब घटनाओं के पीछे पीछे सरकार जिम्मेदार है या लड़कियों की तस्करी करने वाला व्यक्ति, सबसे बड़ा सवाल है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here