भगवान भरोसे है NH-730 पर योगी जी की गैया, बीच सड़क मे बैठने को लेकर 2 दिन पूर्व अज्ञात वाहन की चपेट में आने से हुई थी 4 गायों की मौत, आखिर कितनी बार तहसीलदार राजेश अग्रवाल जैसे अधिकारियों की जागरूकता, गायों के आतंक से राहगीरों को बचाएं व खाली कराये NH-730 मार्ग?

0
221

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

इन दिनों NH-730 को अपना आशियाना बनाने वाली गौवंशो का कोई रखवाला नही है। योगी जी की गायों ने NH-730 पर धरना दे दिया है। आखिर कितनी बार तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल व सचिव जीवन प्रसाद आर्या व अन्य समाजसेवी जैसे लोग NH-730 से गायों को हटाते फिरेंगे। NH-730 का मार्ग पूरी तरह से गोवंश के कब्जे में है, चाहे व वह चिल्हिया थानाक्षेत्र के गोल चौराहा या गौहनिया चौराहा हो, या शोहरतगढ़ थानाक्षेत्र का शोहरतगढ़ कस्बा अथवा बानगंगा नदी का पुल, सभी पर कब्जा जबरजस्त है। गायों का डेरा इतना प्रबल है कि वाहनों को खुद बचकर निकलना पड़ता है लेकिन एक जरा सी चूक पर गायों के साथ इंसानों को भी जान से हाथ धोना पड़ता है।

गुरुवार को शोहरतगढ़ तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल NH-730 से गायों को हटाते हुए देखें गये, जिनकी लोगों ने सराहना की, लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर कौन, कितनी बार गौवंश को सड़क से हटाएगा? सबसे बड़ा सवाल है। यही नही सड़को पर गौवंशो का आतंक भी देखने को मिलता है । कभी कभी राहगीरों को लगता है कि गौवंश बैठी है हम साइड से अपनी वाहन निकाल लेंगे, इसी बीच गौवंश के भगदड़ और लड़ाई में राहगीरों को मुसीबतों का सामना करना पड़ता है।

बताते चलें की चिल्हिया थाना क्षेत्र के गौहनिया चौराहे पर पिछले दो दिनों में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से 4 गोवंश की दर्दनाक मौत हो गई थी जिसे समाजसेवियों ने दफन कर दिया यही नहीं रात में चार पहिया वाहन की चूक के कारण गोवंश का पैर भी जख्मी हो जाता है। अब सवाल यह है कि गायों को कितनी बार कौन कौन लोग सड़क से हटाते फिरेंगे।

स्थायी गौशाला ही बनेगा विकल्प- जानकारों की माने तो अस्थाई गौशाला पूरी तरह से गौवंश के लिए सुरक्षित और संरक्षित नहीं है इसके लिए स्थाई गौशाला का निर्माण कर उसकी कमेटी बनी चाहिए और चारा प्रबंध आदि की संपूर्ण व्यवस्था होनी चाहिए, जिससें उनके चारा आदि की सुविधा में अड़चन न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here