नवागत पुलिस अधीक्षक राम अभिलाष त्रिपाठी ने जन-समस्याओं का निदान के लिए सभी थाना प्रभारियों के साथ की बैठक, कहा जनता के दुःख दर्द को बांटने के लिए किया गया है पुलिस विभाग का गठन

0
212

पर्दाफाश न्यूज़ टीम
सिद्धार्थनगर

रविवार को पुलिस अधीक्षक राम अभिलाष त्रिपाठी ने पुलिस लाइन स्थित सभाकक्ष में मासिक अपराध गोष्ठी कर अपराध एवं अपराधियों पर प्रभावी नियन्त्रण एवं शान्ति-व्यवस्था बनाये रखने तथा वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

सम्मेलन के दौरान अपनी पूर्व की तैनातियों एवं कार्यों के सम्बन्ध में संक्षिप्त विवरण देते हुए अपना परिचय दिए तथा अपर पुलिस अधीक्षक व समस्त क्षेत्राधिकारीगण, समस्त प्रभारी निरीक्षक/थानाध्यक्षगण, शाखा प्रभारीगण से परिचय एवं कार्यकुशलता की जानकारी ली गयी | किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार और व्यक्तित्व की अपिवत्रता को मानसिक बीमारी मानते हुए यह स्पष्ट किया गया कि प्रत्येक पुलिसकर्मी को इन मानसिक रोगों को दूर कर निष्पक्ष होकर अपने कर्तव्य चेतना का निर्वहन करने के लिए एक दृढ संकल्प लेना पड़ेगा | शासन की अपेक्षाओं के अनुरूप अपनी संपूर्ण ऊर्जा के साथ कार्य करना होगा, जिससे समाज की आपराधिक सोच पर आपका नियंत्रण हो | जन-समस्याओं का निदान थाना प्रभारी द्वारा संवेदना के साथ किये जाने की अनिवार्यता पर बल दिया गया | यदि थाने-स्तर पर समस्या का समाधान निष्पक्षता के साथ नही होता है तो यह कार्यशैली थाना प्रभारी के व्यक्तित्व पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करेगी | इसके साथ ही साथ निकट भविष्य में होने वाली पंचायत चुनाव पर भी परिचर्चा की गयी | जिस जनता के दुःख दर्द को बांटने के लिए पुलिस विभाग का गठन किया गया है, उस लक्ष्य को हर हाल में प्राप्त कर उनके समस्याओं का निराकरण एवं उनके प्रति पुलिसकर्मियों का कुशल व्यवहार शत-प्रतिशत करने की बात कही गयी है।

उक्त गोष्ठी में समस्त क्षेत्राधिकारीगण, प्रतिसार निरीक्षक, निरीक्षक प्रज्ञानशाखा, निरीक्षक रेडियो शाखा, समस्त प्रभारी निरीक्षक /थानाध्यक्ष, आशुलिपिक पुलिस अधीक्षक, प्रभारी आंकिक शाखा, प्रभारी डीसीआरबी शाखा, प्रभारी विशेष जॉच प्रकोष्ठ, प्रभारी विशेष शिकायत प्रकोष्ठ, प्रभारी यातायात, रीडर व पी0आर0ओ0 पुलिस अधीक्षक व समस्त शाखा प्रभारी मौजूद रहे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here