आयुष्मान भारत योजना ने जरूरतमंदो के चेहरे पर आयुष्मान ने लौटाई मुस्कान, योजना के तहत जिले भर में अब तक 1804 लोगों ने लिया लाभ

0
252

अरविन्द द्विवेदी की रिपोर्ट
सिद्धार्थनगर

यह तीन केस महज बानगी भर है। प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना ने पैसे के अभाव में उपचार न करा पाने वाले गरीबों को नि:शुल्क लाभ दिलाकर उनके चेहरों पर मुस्कान लौटाई है। इस योजना के तहत जिले भर में अब तक 1804 लोगों ने लाभ लिया है। अन्य पात्र भी गोल्डेन कार्ड बनवाकर नि:शुल्क लाभ उठा सकते हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने सितंबर 2018 को गरीबी से परेशान लोगों के नि:शुल्क उपचार के लिए आयुष्मान भारत योजना की शुरूआत की थी। इसमें सोशल इकनॉमिक कॉस्ट सेंसेज 2011 (सेक डेटा) के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वालों को लाभ दिलाने के लिए पात्र माना गया था। इसी के तहत लोगों को लाभ दिलाया जा रहा है। ग्रीवांस मैनेजर आकाश मिश्रा ने बताया कि जिले भर में आयुष्मान भारत योजना के तहत 20 अस्पताल पंजीकृत हैं।  इसमें लाभार्थी लाभ लेने व गोल्डेन कार्ड बनवाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। खुनियांव क्षेत्र के पथारी गांव निवासी 36 वर्षीय नीमा देवी के बाएं हाथ की हड्डी में दिक्कत थी। वह गरीबी के चलते उपचार कराने में असमर्थ रही, लेकिन योजना ने इनकी जिंदगी बदल दी। जुलाई में इन्होंने गोल्डेन कार्ड बनवाकर बाएं हाथ में ह्यूमरस हड्डी में प्लेट इंप्लांट कराया। अब यह स्वस्थ्य हैं। नौगढ़ क्षेत्र के रामनगर के 38 वर्षीय रमेश किडनी की बीमारी से परेशान रहते हैं। उन्हें डायलिसिस की जरूरत पड़ती है। बीमारी केचलते यह मजदूरी भी नहीं कर पाते हैं। अब वह योजना का लाभ लेते हुए हर माह डायलिसिस करा रहे हैं। उन्हें घर के नजदीकी जिला अस्पताल में यह सुविधा आसानी से मिल जाती है। बर्डपुर क्षेत्र के दुल्हासुमाली गांव की 39 वर्षीय गुड़िया उल्टी, दस्त व डिहाइड्रेशन के चलते परेशान रहती थी। कई चिकित्सकों को दिखाने के बाद पैसे की किल्लत के चलते उपचार कराना बंद कर दिया था। योजना की सूची में नाम होने की जानकारी हुई तो फिर उपचार कराना शुरू किया। अब यह स्वस्थ हैं।

नि:शुल्क बनवाएं गोल्डेन कार्ड- योजना के पात्र लाभार्थी जिले के सभी सूचीबद्ध अस्पताल में आयुष्मान मित्र से संपर्क कर नि:शुल्क गोल्डेन कार्ड बनवा सकते हैं। गोल्डेन कार्ड रहने पर नि:शुल्क उपचार मिलेगा।

पीएम जन आरोग्य योजना के लाभार्थी- 129650 (परिवार)
सीएम जन आरोग्य अभियान के लाभार्थी- 18646 (परिवार)
बने गोल्डेन कार्ड- 110340
उपचार कराए मरीज- 1804
सरकारी अस्पताल-13
प्राइवेट अस्पताल- 05

इस दौरान डॉ. प्रशांत अस्थाना, नोडल अधिकारी (आयुष्मान भारत) ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डेन कार्ड की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। शत प्रतिशत गोल्डेन कार्ड बनाने के लिए सभी सीएचसी, पीएचसी, आशा व संगिनी को निर्देशित किया गया है। अधिक से अधिक गोल्डेन कार्ड बनावा कर पात्रों को नि:शुल्क उपचार दिलाने का भी पूरा प्रयास किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here