मौलाना साजिद रसीदी (ऑल इंडिया इमाम एसोसिएशन) के ट्वीट पर अधिवक्ता नगेन्द्र कुमार श्रीवास्तव उर्फ गुड्डू भैया ने जताई आपत्ति, कहा धार्मिक भावनाओं को भड़काने व पूरे देश में आतंक फैलाने के प्रयास और आस्था को चोट पहुंचाने के संबंध में दर्ज होगा मुकदमा

0
2340

पर्दाफाश न्यूज टीम
सिद्धार्थनगर/लखनऊ

ट्विटर पर वायरल मौलाना साजिद रसीदी के ट्वीट ने सोशल मीडिया पर तहलका मचा दिया है। जिसको लेकर सिद्धार्थनगर जनपद के फौजदारी अधिवक्ता नगेन्द्र कुमार श्रीवास्तव उर्फ गुड्डू भैया ने संतुलित भाषा का इस्तेमाल करते हुए मौलाना साजिद रसीदी को करारा जबाव दिया है।

मौलाना साजिद रसीदी (प्रधान ऑल इंडिया इमाम एसोसिएशन) को संबोधित करते हुए उन्होंने सोसल मीडिया का सहारा लेते हुए लिखा कि, – प्रणाम !
हमने आज आपका ट्वीट पढ़ा, —
हम घंटी बजाने वाले हिंदू नहीं है ना हम जनेऊ धारण करते हैं ना हम सिर पर शिखा धारण करते हैं।
लेकिन सनातन धर्म में अटूट आस्था रखते हैं, हम औरंगजेब और बाबर से नहीं बल्कि शिवाजी और महाराणा प्रताप की कहानियों से प्रभावित रहते हैं। सनातन धर्म में आस्था और प्रभाव के कारण ही हम किसी के धर्म या आस्था का अपमान नहीं करते हैं बल्कि उनके प्रति अपना सम्मान हमेशा व्यक्त करते हैं I
सनातन धर्म में हम और हमारा पूरा परिवार अटूट आस्था रखता है जिसका हमें और हमारे पूरे परिवार को गर्व भी है।

आपने अपने ट्वीट में या कहा है कि—-
मस्जिद तो मंदिर ढहा कर नहीं बनाई गई थी परंतु अब ये हो सकता है कि मस्जिद बनाने के लिए मंदिर को ढहा दिया जाएगा”””

तो आपसे हम सिर्फ इतना कहना चाहेंगे कि —
आप जैसे लोग यह बात इसीलिए बोल पा रहे हैं क्यों की आप हिंदुस्तान में सनातन धर्म में आस्था रखने वाले बहुसंख्यक लोगों के बीच में मौजूद हैं। जिन्हें बचपन से यह सिखाया जाता है कि,, कुत्ता आदमी को काटे तो आदमी कुत्ते को नहीं काटता,, और आप चारों ओर से अधिकतर ऐसे ही सनातन धर्म के लोगों से घिरे हैं।
रही आपके ट्यूटर पर टिप्पणियां करने से देश में कोई अप्रिय हलचल होगी तो आप यह भूल जाइए क्योंकि—-


समुंदर में लघुशंका करने से बाढ़ नहीं आती

कहना तो बहुत कुछ है आगे कभी मौका मिला तो कहूंगा भी, लेकिन अगर यह पोस्ट आप तक पहुंच रही हो तो कृपया यह जान ले कि आप की ट्वीट के साथ जनपद सिद्धार्थनगर के न्यायालय में आपके ऊपर धार्मिक भावनाओं को भड़काने पूरे देश में आतंक फैलाने के प्रयास और हमारी आस्था को चोट पहुंचाने के आदि के संबंध में हम स्वयं सोमवार को आपके ऊपर केस फाइल करेंगे l

जिसका मजमून होगा

नगेंद्र कुमार श्रीवास्तव
बनाम
मौलाना साजिद रसीदी (प्रधान ऑल इंडिया इमाम एसोसिएशन)

दरसल हिंदुस्तान में किसी भी हिंदू को किसी भी मुसलमान से कोई समस्या नहीं है। लेकिन आप जैसे कुछ लोग हमेशा दूध में खटाई का काम करते हैं। हमारे धर्म में भी कुछ कम लोग नहीं है,, हममे भी कुछ लोग हैं जो दूध में खटाई का काम करते हैंl दरसल आप जैसे लोगों की दिक्कत यह है की बिना लकड़ी के चूल्हा जलाए आपकी खिचड़ी पकेगी नहीं और इंडक्शन चूल्हे में बनाने की तमीज नहीं है।

सिर के जुए, कपड़े के चीलर और कुत्तों और जानवरों मैं पड़ने वाली किलनी सभी जंतुओं को जीव विज्ञान में परजीवी कहा जाता है । लेकिन सामाजिक विज्ञानं की दृष्टि से देखा जाए तो यह सभी एहसान फरामोश होते हैं जहां जिस पर रहते हैं उसी का खून चूसते हैं। आप और आप ही की मानसिकता वाले सभी लोग उक्त में से खुद को एकांत में खुद ही नाम दे के चुन लें तो हम समझते हैं ज्यादा अच्छा रहेगा क्योंकि हम सार्वजनिक तौर पर कहेंगे तो शायद आप और आप जैसे लोगों को बुरा लग जायेगा
खैर धन्यवाद !
आपका भी समय शुभ हो !
आप भी अपना ख्याल रखें !
आप भी घर में रहें सुरक्षित रहें!

सम्मान विरोधी का भी होना चाहिए …….
क्योंकि हमने अपने माता पिता से सीखा है की ——-
दुश्मनी के भी कुछ आदाब हुआ करते हैं i
जो, बे -अदब है वह बदला किसी से क्या लेंगे ii
धन्यवाद !

वैसे सोशल मीडिया पर यह पोस्ट पड़ने पर लोगों की भी तरह-तरह की टिप्पणियां आने लगी। सिद्धार्थनगर जनपद के अधिवक्ता राकेश सिंह, समाजसेवी जवाहर जी आदि ने नगेन्द्र कुमार श्रीवास्तव जी को उनके परिवाद में खुद भी गवाह बनने की बात कही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here