कप्तान साहब! क्या चिल्हिया पुलिस के लिए नहीं है कोई नियम कानून, खुद ही बिना मास्क लगाए, मास्क व वाहन चेकिंग का चला रहे अभियान

0
596

निजामुद्दीन सिद्दीकी की रिपोर्ट
सिद्धार्थनगर

जहाँ कोरोना वायरस के बढ़ते महामारी को देखते हुए, रोकथाम के लिए शासन प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है। वहीँ जनपद के स्वास्थ्य विभाग व अन्य सामाजिक संगठनों द्वारा कोरोना वायरस के प्रति लोगो मे जागरूकता फैलाई जा रही है, जिससे लोगो को सुरक्षित रखा जा सके। जिसको लेकर जनपद मे तेजी से कोरोना टेस्ट भी होना शुरू हो गया है।

इस महामारी मे पुलिसिया डंडा रूकने वाला नहीं है जब से देश मे पूर्ण लॉकडाउन हुआ था तब से अब तक जनपद के विभिन्न नगरों व कस्बे मे प्रतिदिन वाहन चेकिंग अभियान चला कर हर आने जाने वाले लोगो का चेकिंग किया जाता जाता है, जिसमे विशेष रूप से आने जाने वालो लोगो देखा जाता है की मास्क और हेलमेट लगाये हैँ या नहीं अगर नहीं लगाया है तो उसके बाइक व कार का फ़ौरन चालान काटा जाता है, बढ़नी, इटवा, बर्डपुर, जोगिया आदि जैसे कुछ कस्बे मे देखनो को मिला है की पैदल चल रहे आम नागरिकों को रोकवा कर मास्क न लगाने पर चालान काटा गया है। पुलिस प्रशासन द्वारा किया गया कार्य ठीक है लेकिन क्या सरकार का फरमान सिर्फ आम जनता ही मानेगी या पुलिस अधिकारी भी!

आपको बता दे की लॉकडाउन के मौके का फ़ायदा उठा कर भारी भरकम चालान काटा गया जिससे माध्यम वर्ग बहुत परेशान है.. क्योंकि पुलिस प्रशासन बहुत ही शक्ति से नियमों का पालन करवा रही है, परन्तु वहीँ नियमों का उल्लंघन कर थाना चिल्हिया के आला पुलिस अधिकारी खुद सरकार के फरमान की धज्जियां उड़ा रहे है। जी हा ये घटना चिल्हिया थाने की है वाहन चेकिंग अभियान चला कर मास्क और हेलमेट चेक करने वाले आला पुलिस अधिकारी मास्क न लगाने पर हर आने जाने वाले लोगो को रोकवा कर चालान काट रहे हैँ। लेकिन खुद मास्क नहीं लगाए और हर आने जाने वाले को मास्क लगाने की नसीहत दे रहे। अजीब विडम्बना है खुद कानून की धज्जियां उड़ाएंगे और दूसरों को कानून का पाठ पठायेंगे, सबसे बड़ा सवाल ये है की मास्क न लगाने वाले लोगो का भारीभर कम चालान काटा जा रहा है। तो बीच मे बैठे साहब का कितने का चालान काटा जायेगा? जनता पूछ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here