प्रवासी मजदूरों ने सरकारी सहायता नही मिलने पर शोहरतगढ़ एस०डी०एम० को दिया ज्ञापन, एस०डी०एम० ने कहा जाँच कर होगी कार्यवाही, मिलेगा राशन

0
240

पर्दाफाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

शोहरतगढ़ तहसील क्षेत्र में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण महानगरों से अपने घर आये प्रवासी मजदूरों को राशन व सहायता राशि देने का दावा तहसील प्रशासन कर रहा है लेकिन धरातल पर सच्चाई इसके विपरीत है।

जिसको लेकर शोहरतगढ़ तहसील क्षेत्र के बढ़नी ब्लॉक अंतर्गत ग्रामसभा धनौरी उर्फ जिगनिहवा के ग्रामीणों ने उप जिलाधिकारी शोहरतगढ़ अनिल कुमार को संबोधित ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने उपजिलाधिकारी से कहा कि कि हम सभी धनौरी उर्फ जिगनिहवा के निवासी हैं। हम सभी लोग दिल्ली मुम्बई अन्य प्रदेशों में रहकर अपना और अपने परिवार का पेट पालते थे। कोरोना वायरस महामारी व लॉकडाउन के दौरान किसी किसी तरह हम अपने गांव में पहुंचे जहां हम लोगों को प्राथमिक विद्यालय पर क्वॉरेंटाइन किया गया था। कुछ लोग होम क्वॉरेंटाइन रहकर शासन के निर्देशों का पालन किये। इसके साथ उन्होंने लिखा कि हमारी रोजी-रोटी का साधन बाहर था लेकिन कोरोना महामारी में हम पूरी तरह बेरोजगार हो गए हैं। परिवार व बच्चों की भूखे मरने की नौबत आ गई है । जबकि सरकार की कोई योजना या सरकारी सहायता धनराशि सरकारी सहायता धनराशि सरकारी कर्मचारियों की लापरवाही के कारण के कारण नहीं मिल पाई है इसके साथ उन्होंने निवेदन के साथ कहा कि ज्ञापन को संज्ञान में लेकर लापरवाह कर्मचारियों अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने की कृपा करें जिससे हम भुखमरी रोजगार का संकट आज के शिकार ना हो।

यही नहीं शोहरतगढ़ तहसील क्षेत्र के शोहरतगढ़ ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पंचायत बगुलहवा में प्रधान प्रतिनिधि तबरकुल्लाह ने कहा कि हमारे गाँव मे 175 लोगों को खाद्यान्न किट नही मिला। इसके साथ ही करमा में 250 करमा, संतोरा में 35 लुचुइया में 44, दहियाड में 60 लोगों को खाद्यान्न नही मिलने की बात बताई जा रही है।

मजदूरों ने एसडीएम से मांग किया है कि लापरवाह कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाई करने व प्रवासी मजदूरों को सरकारी सहायता दिलवाने की माँग किया है।भाजपा जिला कार्यसमिति सदस्य पवन पाठक ने मामले के बारे में जिलाध्यक्ष गोविन्द माधव को अवगत कराया। जिलाध्यक्ष ने एसडीएम से बात कर मामले के समाधान करने के लिए कहा।

इस संबंध में शोहरतगढ़ एसडीएम अनिल कुमार ने कहा कि मामले की जानकारी हुई है। नायब तहसीलदार व लेखपाल को जांच के लिए कहा गया है, जो भी प्रवासी तय तारीख के बाद आये हैं। उन्हें सरकारी सहायता दिलाया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here