शोहरतगढ छात्रसंघ तिराहे पर एबीवीपी के पूर्व प्रदेश सहमंत्री एवं पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष शिवशक्ति शर्मा की अगुवाई में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग का विरोध कर फूंका गया पुतला फूंक, भारतीय सेना के शहीद जवानों के प्रति प्रकट की संवेदना, कहा- चीन का कायरतापूर्ण कदम बर्दाश्त से बाहर

0
189

अरविन्द कुमार द्विवेदी की रिपोर्ट
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

भारत के खिलाफ चीन की कायरतापूर्ण हमले से देश में जबरदस्त गुस्से का माहौल है। वृहस्पतिवार को शोहरतगढ छात्रसंघ तिराहे पर एबीवीपी के पूर्व प्रदेश सहमंत्री एवं पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष शिवशक्ति शर्मा के अगुवाई में सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखते हुए। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग का पुतला फूंक कर विरोध किया गया। और भारतीय सेना के शहीद जवानों के प्रति संवेदना प्रकट की गई। इस दौरान एबीवीपी के पूर्व प्रदेश सहमंत्री एवं पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष शिवशक्ति शर्मा ने कहा कि चीन ना केवल कोरोना महामारी का जनक हैं, बल्कि हमारे देश का सबसे बड़ा शत्रु भी है। उसकी अर्थव्यवस्था को कमजोर करना सबसे जरुरी हैं। इसलिए चीन से होने वाले आयात पर प्रतिबंध लगाया जाए। इसी क्रम में हियुवा जिला महामंत्री अजय सिंह ने कहा कि लंबे समय के बाद चीन ने कायरतापूर्ण व शर्मनाक हरकत की हैं, जो क्षमा योग्य नहीं है। अब समय व्यतीत ना करतें हुए चीन के इस कायरतापूर्ण हरकत के लिए मुंहतोड जबाब देना चाहिए। इसी क्रम में समाज सेवी विरेन्द्र गुप्ता ने कहा कि चीनी सैनिकों के इस घटिया कृत्य के लिए सरकार से कड़ी कार्रवाई की मांग करतें हुए देश के नागरिकों से चीनी सामान के बहिष्कार की अपील की। इस दौरान हियुवा नेता रिषभ सिंह, समाज सेवी पप्पू चौधरी, गिरधारी शर्मा, रुदल प्रसाद, समाज सेवी विष्णु प्रताप सिंह, महेन्द्र कुमार निषाद, गुड्डू गौड़, राम चन्द्र यादव, दुर्गेश वर्मा आदि लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here