शोहरतगढ़ थानाक्षेत्र के गड़ाकुल कोटेदार ने बातचीत के दौरान स्वीकार किया था, कार्ड धारक से अधिक मूल्य का लेना, जिला पूर्ति अधिकारी ने वायरल ऑडियो का लिया संज्ञान, गड़ाकुल में पात्र गृहस्थी के 73 व अन्त्योदय के 35 लोगों का लिया गया बयान, जाँच अधिकारियों ने उच्च अधिकारियों को भेजी रिपोर्ट

0
297

पर्दाफाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

शोहरतगढ़ विकास खंड के ग्राम पंचायत गड़ाकुल के उचित दर विक्रेता (कोटेदार) अल्ताफ हुसैन द्वारा अन्त्योदय व पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को कम खाद्यान्न देने व अधिक रुपये लेने सम्बन्धी शिकायतों की जाँच के लिए अन्त्योदय के 35 कार्ड धारक व पात्र गृहस्थी के 73 कार्ड धारकों का बयान लिया गया। बयान के दौरान ऐसे ऐसे मामले भी आये की कोटेदार द्वारा लोगो को खूब पढ़ाया भी गया कि 60-70 रुपये की जगह मात्र 48 रुपये ही लिया गया है। लेकिन क्रॉस सवालों के जवाब वह कार्ड धारक नही दे पाए और जबरिया बयान की पोल खुलती नजर आयी। बयान ऐसा भी था कि आधा लीटर मिट्टी तेल की कीमत 15 रुपये तो किसी को 20 रुपये में 1 लीटर तेल मिल जाता था। तो किसी किसी को 15 रुपये में 1 लीटर तेल मिलने का बयान दिया गया। साथ ही बयान के दौरान अधिक मूल्य लेने की बात सामने आई। बहरहाल पात्र गृहस्थी के 689 व अन्त्योदय के 126 यानी 815 कार्ड धारकों के सापेक्ष में से 108 कार्ड धारकों का बयान लिया गया।

पूर्ति निरीक्षक शोहरतगढ़ रामसेवक यादव व पूर्ति निरीक्षक बढ़नी संजीत कुमार ने बताया कि कुल 108 लोगों का बयान लिया गया है बयान के आधार पर कार्यवाही की जाएगी। बताते चलें कि समय-समय पर खाद्यान्न वितरण के अलग-अलग अलग-अलग व्यवस्था बनाई जाती है। विदित हो कि गड़ाकुल कोटेदार अल्ताफ हुसैन ने खुद ही स्वीकार किया था कि वह कार्ड धारक से 20-22 रुपए अधिक ले लिया है जिसकी शिकायत कार्ड धारक ने जिलापूर्ति अधिकारी सहित विभाग के मंत्रालय से की थी। कोरोना वायरस व लॉक डाउन के दौरान कार्ड धारकों से लिये जा रहे बयान के दौरान सोशल मीडिया का भी सहारा लिया। ताकि बयान स्थल पर लोगों की भीड़ इकट्ठा ना हो।

इस दौरान ग्राम प्रधान गड़ाकुल श्यामसुंदर चौधरी ने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप संबंधित कोटेदार खाद्यान्न का वितरण करें ताकि लोगों को किसी भी परेशानी का सामना ना करना पड़े। बयान के दौरान शिकायत कर्ता अधिवक्ता नगेन्द्र कुमार श्रीवास्तव भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here