25 से अधिक घरों के पानी की निकासी नही होने से बजबजाती है गाँव की जाम नालियां, नाली के विवाद में दबंगों ने पीड़िता की जलाई झोपड़ी, जबरिया कर रहे है ग्राम समाज के भूमि पर अवैध कब्जा

0
193

पर्दाफाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

शोहरतगढ़ तहसील क्षेत्र में इन दिनों सरकारी/ग्राम समाज की जमीनों पर आये दिन कब्जा करना/करवाना आम बात है। ऐसा नहीं है कि जिम्मेदारों की इसकी जानकारी नहीं है कहीं ना कहीं तहसील प्रशासन के कर्मचारियों की मौन सहमति इसके पीछे का कारण बताई जा रही है। जिस का ताजा उदाहरण शोहरतगढ़ तहसील क्षेत्र के ग्राम पंचायत महादेवा नानकार में देखने को मिली।

घटना स्थल से मिली जानकारी व पीड़िता जैतुन्निशा पत्नी जमील अहमद की माने तो वह ग्राम पंचायत महादेवा नानकार की निवासिनी है। गांव में करीब 25 लोगों का पानी नाली द्वारा गड्ढे में जाकर गिरता है। यह नाली वर्षों से है। अब मेरे गांव के कुछ लोग नाली द्वारा गड्ढे में पानी नहीं जाने देते जबकि गड्ढा ग्राम समाज का है, जिसका गाटा संख्या 660 व 661 है, व रक़बा 0.0830 है। समय रहते प्रशासन ने अगर संज्ञान नही लिया तो व खाद का गड्डा व नवीन परती मात्र अभिलेखों तक ही सिमट कर रह जायेगा। बहरहाल पीड़िता ने उसकी शिकायत वर्तमान व पूर्व प्रधान से भी की है।

साथ ही राजेश चौधरी द्वारा नाली का पानी नही गिराने के सम्बंध में गाँव के बुधिराम यादव, रज्जाक, वलीउल्लाह, रामबृक्ष, श्यामविहारी, हरिहर यादव, रेखा, बलराम, हरीश, मोहम्मद उमर, जयप्रकाश आदि ने इसकी लिखित शिकायत हल्का लेखपाल से की है। इसी विवाद को लेकर रविवार को गांव के मनबढ़ व दंबग व्यक्ति ने पीड़िता जैतूननिशा के चोपड़ी में आग लगा दी जिससे उसका काफी सामान जल गया, पूरे प्रकरण उसने अपनी आप बीती भी सुनाई।

जैतुन्निशा से जब पूछा गया कि यह आग कैसे लगी तो उन्होंने गांव के राजेश चौधरी का नाम लेते हुए उस पर आरोप लगाते हुए कहा कि राजेश चौधरी ने झोपड़ी फूंक दी है। पीड़िता से जब यह पूछा गया कि क्या राजेश चौधरी से आपका कोई विवाद है तो पीड़िता ने उनसे मेरा कुछ भी विवाद नहीं था केवल रास्ते का विवाद था रास्ता मांगने पर मैंने कहा था वह जहां से कहेंगे पटवारी (लेखपाल) नाप कर दे देंगे। मुझे मंजूर होगा फिर भी राजेश चौधरी आकार सहन भूमि परती भूमि के साथ मेरी की झोपड़ी से सटाकर भूमि को जोतने लगे। मना करने पर पीड़िता के झोपड़ी को फूटने की धमकी दी और उसी समय ट्रैक्टर खड़ा करके मेरी झोपड़ी फूंक दी।

इसके बाद पिंटू नाम के व्यक्ति ने ट्रैक्टर लेकर वहां से भाग गया। उन्होंने यह भी बताया कि पुलिस को जानकारी रात में ही दी गई है लेकिन अभी तक पुलिस मौके पर नहीं आई है इस घटना में पीड़िता ने बताया कि लगभग 40 हजार रुपए से अधिक की क्षति हुई है। इसके साथ ही घटना स्थल से मिली जानकारी के मुताबिक प्रश्नगत खादगढ़ा के पास कई लोगों ने उस पर अवैध कब्जा कर लिया है पक्का निर्माण भी कर लिया है। इसके साथ ही शनिवार को खाद गड्ढे पर मिट्टी डालकर कब्जा करने का प्रयास भी किया जा रहा है। लेकिन कार्रवाई के नाम पर कौन सी कार्रवाई की गई यह तहसील के अधिकारी और कर्मचारी ही बता सकते हैं लेकिन सवाल यह भी है कि क्या नाली के विवाद या ग्राम समाज की भूमि को कब्जा करने से मना करने पर किसी पीड़ित का आशियाना फूंक दिया जाएगा? आखिर ऐसे व्यक्तियों को किन का सह प्राप्त है यह यह भी जांच का विषय है।

उक्त के संबंध में उपजिलाधिकारी शोहरतगढ़ अनिल कुमार ने बताया कि मामला अभी तक संज्ञान में नहीं था मामले को मैं अभी दिखाता हूं, जांच कर कार्रवाई की जाएगी। वही शोहरतगढ़ तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल ने बताया कि कल मैं स्वयं मामले को देखता हूँ। जांचोपरांत कार्यवाही होगी। इसके साथ ही प्रभारी निरीक्षक रामअशीष यादव ने कहा कि दोनों पक्ष थाने पर आए थे। मामला संदिग्ध है। खैर जांचोपरांत कार्यवाही की जाएगी। साथ ही ग्राम प्रधान प्रतिनिधि अखिलेश पासवान ने कहा जितने लोगों ने ग्राम समाज की भूमि पर किसी प्रकार का कब्जा आदि किया है। सबको नोटिस देकर भूमि खाली कराई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here