मैरी लुकस स्कूल एंड कॉलेज प्रयागराज के कर्मचारी, अध्यापक बकाया वेतन और प्रधानाचार्य की नियुक्ति किए जाने के लिए तथाकथित बिशप पीटर बलदेव का किया घेराव, सुरक्षा गार्डों से हुई हाथापाई

0
505

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज

मैरी लुकस कर्मचारी यूनियन ने वेतन की मांग और स्कूल की खराब व्यवस्था के लिए बिशप हाउस का किया घेराव, साथ मे आया लखनऊ डायशेसन ट्रस्ट एशोसिएशन कर्मचारी यूनियन

को लेकर बिशप पीटर बलदेव का घेराव किया और मांग में तीन माह से वेतन न मिलना, स्कूल की खराब वातावरण, प्रधानाचार्य की नियुक्ति, कुछ दिन पूर्व बिशप पीटर बलदेव और विधिक सलाहकार की सह पर कर्मचारियों के साथ कि गयी मारपीट पर बिशप द्वारा माफी मांगने और दुबारा ऐसी घटना ना घटित हो इसका आश्वासन देने को ले कर सभी कर्मचारी व अध्यापक बिशप का घेराव किये, अपने तानाशाही रवैया से बिशप कर्मचारियों से मिलने बाहर नही आये, कर्मचारियों ने भी बाहर आने पर ही बातचीत के लिए अड़े रहे किसी तरह कुछ अध्यापक ने बीच बचाव कर अंदर बिशप से मिलने गए, बिशप द्वारा कर्मचारियों की कोई भी मांग नही मानी गयी , बातचीत में बिशप ने कहा चाहे जिससे शिकायत कर लो मेरे ऊपर कोई कानून लागू नही होता, जिलाधिकारी ssp हमारे यहाँ आते है हमे कही जाने की जरूरत नही है, मुझे स्कूल बन्द करना है आप लोगो से कोई मतलब नही है कही और नौकरी ढूढ लो स्कूल घाटे में चल रहा है मुझे वहाँ होटल व मैरिज हाल बनाना है, इस पर कर्मचारियों ने कहा कि जब स्कूल घाटे में चल रहा है तो स्कूल का वातावरण ठीक करिये नए बच्चों के प्रवेश हो। बिशप के गैरजिम्मेदाराना , ताना शाही और अड़ियल रवैय्या से बिशप व कर्मचारियों में नोक झोंक होती रही जिसका कोई प्रतिफल नही निकला।
मैरी लुकस कर्मचारी यूनियन ने एक सप्ताह का समय बिशप को दिया अगर एक सप्ताह में वेतन का भुगतान व अन्य मांगे नही मानी गयी तो उग्र आंदोलन हो गा। जरूरत पड़ने पर सभी कर्मचारियों द्वारा आमरण अनशन पर बैठा जाएगा। मैरी लुकस कर्मचारी यूनियन ने लखनऊ डायशेसन ट्रस्ट एशोसियेसन कर्मचारी यूनियन का समर्थन व सहयोग के लिये धन्यवाद।
आंदोलन में प्रमोद, ब्रम्हा, हरि नारायण , सुनील , अशोक सिद्धार्थ एल्विन संजय कुमार संजय सिंह रामचंद्र यादव.. प्रेम नारायण पांडे सदाशिव जीतलाल रमेश कुमार सुनील भारतीय विजय मसीह चंदबली भारतीय संपत कुमार भरत कुमार भारी संख्या में कर्मचारी उपस्थित थे लोग थे।….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here