एक ही वर्ष में कक्षा 12 की कई विद्यालय से रेगुलर अध्ययन व दो बोर्ड से एक साथ रेगुलर परीक्षा पास करने प्रकरण में, आरोपी छात्र ने माइग्रेशन व अंकपत्र सरेंडर किया

0
915

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज

प्रयागराज के बहुचर्चित केस प्रधानाचार्य पुत्र द्वारा एक ही वर्ष में कक्षा 12 की कई विद्यालय से रेगुलर अध्ययन व दो बोर्ड से एक साथ रेगुलर परीक्षा पास करने में अंततः आरोपी छात्र ने सीबीएसई के समक्ष अपना माइग्रेशन व अंकपत्र सरेंडर कर दिया है।
जानकारी के अनुसार महर्षि विद्या मंदिर, दूर्वाणी नगर, ए0डी0ए0 कालोनी, नैनी, प्रयागराज की प्रधानाचार्या ने अपने पुत्र कार्तिकेय चन्दोला को 2009 में तीन अलग-2 विद्यालयों से कक्षा 12 में रेगुलर अध्ययन कराया व सीबीएसई के साथ यूपी बोर्ड की भी 12 की रेगुलर परीक्षा पास कराई थी जिसके सन्दर्भ में आर के पाण्डेय एडवोकेट हाई कोर्ट इलाहाबाद द्वारा 2011 में शिकायत की गई थी लेकिन कोई भी कार्यवाही न होने पर 2019 में दुबारा शिकायत की गई जिसके बाद दोनों ही बोर्ड से नोटिस जारी होने व मामले के तूल पकड़ने के बाद अंततः आरोपी छात्र कार्तिकेय चन्दोला ने अपनी कक्षा 12 का माइग्रेशन व अंकपत्र सीबीएसई बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय में सरेंडर कर दिया है व नियमो की जानकारी न होने से गलती होना स्वीकार कर लिया है। उधर शिकायतकर्ता ने बताया है कि मामला केवल सरेंडर करने का नही है बल्कि एक ही विद्यार्थी के रेगुलर रूप से सशरीर 125 किमी के दूरी पर स्थित 3 विद्यालयों में उपस्थिति व शिक्षा जगत में व्यापक भ्रष्टाचार एवं महर्षि शिक्षा संस्थान द्वारा संचालित महर्षि विद्या मंदिर विद्यालयों में अवैध कक्षाएं चलाते हुए दूसरे विद्यालयों में विद्यार्थियों का पंजीकरण दिखाकर उनके शोषण का भी है। उन्होंने यह भी बताया है कि वर्ष 1991 से 2012 तक व्यापक स्तर पर महर्षि शिक्षा संस्थानों में व्यापक भ्रष्टाचार हुआ है जो बदस्तूर जारी है जिसकी उच्च स्तरीय जांच कार्यवाही आवश्यक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here