बेसिक शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार के नित नए आयाम- कागजी विद्यालय को तलाश रहे अधिवक्ता, 48 घण्टे में खोजकर दिखाने वाले व्यक्ति को देंगे ग्यारह सौ का इनाम

0
791

पर्दाफाश न्यूज टीम
प्रयागराज

प्रयागराज जनपद में बेसिक शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार के रोज नए आयाम स्थापित हो रहे हैं। ताजा प्रकरण में इनामिया चलती फिरती जमीन के दो विद्यालयों के नाम दर्ज होने व एक स्थायी मान्यता व सहायता प्राप्त विद्यालय के अस्तित्व के सवाल का है जिसमे समाजसेवी अधिवक्ता आर के पाण्डेय एडवोकेट ने शिकायत दर्ज कराने के साथ ही उपरोक्त हवाई व कागजी विद्यालय को अगले 48 घण्टे में खोजकर दिखाने वाले व्यक्ति को नगद रुपये ग्यारह सौ का इनाम देने का प्रस्ताव भी रख दिया है।
जानकारी के अनुसार उप शिक्षा निदेशक, चतुर्थ मंडल, प्रयागराज के पत्रांक/सी।518-50/1985-86 दिनांक अप्रैल 17, 1985 के अनुसार जनता जूनियर हाईस्कूल, बसरिया, करछना, प्रयागराज स्थाई मान्यता प्राप्त विद्यालय है व वर्तमान में सहायता प्राप्त विद्यालय भी है तथा जो0च0 आकार पत्र-45 (नियम 97) के आधार पर तैयार खतौनी के अनुसार गाटा स0 409 की जमीन इस विद्यालय के नाम पर है जोकि इस विद्यालय के प्रधानाचार्य व प्रबन्धक एवं अधिकारियों द्वारा प्रमाणित भी है परन्तु यही जमीन गाटा स0 409 प्राइमरी विद्यालय वेदों के नाम पर भी दर्ज है। स्थलीय स्थिति के अनुसार उपरोक्त विद्यालय बसरिया, वेदों में कही पर स्थित ही नही है अर्थात व्यवहारिक रूप से यह विद्यालय अस्तित्व में न होकर विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से केवल कागज में चलाकर वेतन आदि आहरित किया जा रहा है जिसकी जांच व विधिक कार्यवाही आवश्यक है। शिकायतकर्ता ने अधिकारियों से प्रार्थना की है कि इस प्रकरण में शिकायतकर्ता की उपस्थित में विद्यालय व उसके मानक तथा उसके नाम दर्ज जमीन का स्थलीय भौतिक सत्यापन के साथ जांच कराकर विधिक कार्यवाही की जाए। उधर शिकायतकर्ता का कहना है कि इस कागजी व हवाई विद्यालय जनता जूनियर हाई स्कूल बसरिया, वेदों को अगले 48 घण्टे में खोजकर दिखाने वाले को वह रुपये ग्यारह सौ का नगद इनाम देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here