सीएचसी पर इलाज कराने आये युवक के परिजनों ने चिकित्सकों को बनाया गया बंदी, रेफर के बाद जिला मुख्यालय पर उपचार के दौरान कैंसर मरीज की हुई मौत

0
737

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
सिद्धार्थनगर

जनपद के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शोहरतगढ़ पर बदहाल व्यवस्था के चलते इलाज कराने आये एक युवक के परिजनों ने अस्पताल में आक्सीजन न होने पर चिकित्सकों को बंदी बनाया।सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया।

गुरुवार को केन्द्रीय स्वास्थ मंत्री अनुप्रिया द्वारा शोहरतगढ़ मे एक जनसभा में आगमन के दौरान सीएमओ द्वारा सीएचसी का औचक निरीक्षण किया गया जिसमें सीएमओ साहब ने सीएचसी में ऑक्सीजन की अनुपलब्धता की जानकारी नहीं हुई या जानकारी होने के बावजूद नजर अंदाज कर गए।बहरहाल इसका खामियाजा चिकित्सकों को भुगतना पड़ा। गुरुवार की रात कस्बे के सब्जी मंडी निवासी कैंसर पीड़ित सुनील अग्रहरि को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लाया गया जहां ऑक्सीजन उपलब्ध न होने पर परिजनों से विवाद से बचने के लिए चिकित्सकों ने ऑक्सिजन का खाली सिलिंडर लगाया और जब परिजनों द्वारा विवाद किया जाने लगा तो जबरदस्ती मरीज को रेफर करने लगे। मामले की सूचना देने के लिये लोगों ने जब मुख्य चिकित्साधिकारी को फोन किया गया तो उनका सीयूजी नम्बर स्विच ऑफ मिला। जिससे आक्रोशित लोगों ने सभी चिकित्सकों को एक कमरे में बंद का दिया। सूचना पाकर थानाध्यक्ष अवधेश राज सिंह सीएचसी पर पहुंचे और मामले को शांत कराया तब चिकित्सकों न राहत राहत की सांस ली। चिकित्साधीक्षक डॉ एसके पटेल ने बताया कि मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत नही बल्कि उसे अन्य इलाज की जरूरत थी जिसकी व्यवस्था सीएचसी पर नही है इसलिए मरीज को जिला अस्पताल भेज दिया गया। जिलामुख्यालय पर इलाज के दौरान शुक्रवार को सुबह करीब 5 बजे कैंसर पीड़ित युवक की मौत हो गयी।

कैंसर पीड़ित युवक