मलहरा फाटक पर बने ओवरब्रिज पर आधे छोर पर रहता है अंधेरा, रात के अंधेरे में एक्सीडेंट, लूट, छिनैती, छेड़खानी, जैसी घटनाओं के घटने के रहता है डर, विभाग ने भी साधी चुप्पी

0
692

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
नैनी/प्रयागराज

प्रयागराज के मलहरा फाटक के ऊपर हाल ही में बने ओवरब्रिज के ऊपर कसाई मुहल्ला की ओर एक हफ्ते से ऊपर होने को है जहाँ स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था आधे ब्रिज पर धड़ाम हो चुकी है। जिससे कि राहगीरों को बड़ी मुशीबतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं लोगों में रात के अंधेरे में एक्सीडेंट, लूट, छिनैती, छेड़खानी, जैसी घटनाओं का डर सताता रहता है।कि कहीं उनके साथ किसी तरह की अनहोनी न हो जाये। सबसे बड़ी बात तो यह है कि हर रोज उसी मार्ग से अधिकारी व प्रशासन का भी गुजरना होता है लेकिन यह दृश्य उन्हें भी नहीं दिखता , यह भी नहीं सोच आती की यदि इस अंधेरे में यदि कोई बड़ी घटना हो गयी तो पूरा दोष प्रशासन पर ही जायेगा कि क्या प्रशासन सोई थी क्या जो इतनी बड़ी घटना घट गई। वैसे भी विधुत विभाग पूर्ण रूप से बौना हो चुका है उसे न तो कुछ दिखता है और न ही सुनाई देता है। सिर्फ दिन के उजाले में अवैध कमाई कहाँ कहाँ से हो सकती है बस इतना ही दिखता है। क्योंकि रात को तो इनको 05 बजे के बाद से अपने अपने घरों में चले जाने की बात होती है।सिर्फ एक से दो कर्मचारी पॉवर हॉउस की रखवाली के लिए रात भर उसी में रहना होता है तो बाहरी दुनिया के बारे में क्या जानेगें। हाल ही में बने ओवरब्रिज पर कुछ दिनों तक तो पूरे में पूर्ण रूप से अंधेरा था लेकिन जब अर्धकुम्भ की बातें आईं तो आधे कुम्भ के बीत जाने के बाद से स्ट्रीट लाइट व्यवस्था को पूर्ण रूप से सुचारू कर दी गयी थी। लेकिन अब एक हफ्ते से ऊपर होने को है लेकिन अधिकारियों की नजर कसाई मुहल्ले की ओर से एफसीआई की ओर जाने वाले ओवरब्रिज पर नहीं पड़ रही है शायद किसी बड़ी घटना के इंतजार में बैठे हैं। सिर्फ सरकार से अपनी तनख्वाह को लेकर सरकार की छवि को धूमिल करने में जुटे हुए हैं। और 05 बजने के बाद पॉवर हॉउस में एक से दो कर्मचारियों को छोड़ कर अपने अपने घरों में लुत्फ उठा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here