इबादत और सच्चे दिल से मांगी गई दुआएं होती हैं कुबूल-मौ०आरिफ

0
4297

अजीज अहमद
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

  • मस्जिद में इबादत के बाद आधी रात को निकला जुलूस
  • जुलूस के दौरान पुलिस रही पूरी तरह सतर्क
शोहरतगढ़ में शब-ए-बरात के मौके पर जुलूस निकलते मुस्लिम समुदाय के लोग

स्थित जामा मस्जिद में शब-ए-बरात के मौके पर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अल्ल्लाह की इबादत की और जुलूस निकालकर कब्रिस्तान पहुंचकर मरहूमिन के लिए दुआएं मांगीं।
इस दौरान जामा मस्जिद के इमाम मौलाना अब्दुल्लाह आरिफ ने कहा कि शब-ए-बरात की रात बड़े मरतबों वाली रात है।इस रात अल्लाह की इबादत और सच्चे दिल से मांगी गई दुआएं अल्लाह पूरी करते हैं।इसलिए लोगों को अल्लाह की इबादत के साथ-साथ मरहूमीन के मगफिरत की दुआएं करनी चाहिए जिससे मरहूमीन को कब्र के अजाब से निजात मिल सके। बीती रात मस्जिद और कब्रिस्तान को सजाया गया।मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मस्जिद में देर रात तक अल्लाह की इबादत की और आधी रात के बाद जुलूस निकाला। जुलूस मस्जिद चौराहे से प्रबंधक नवाब खान व सदर अल्ताफ हुसैन के नेतृत्व में निकला जो भारतमाता चौक,पुलिस पिकेट,श्रीराम जानकी मंदिर, ग्राम गड़ाकुल स्थित आदर्श टीचर्स कालोनी,रेलवे क्रासिंग होते हुए ग्राम छतहरी स्थित मुस्लिम कब्रिस्तान पहुंचा जहां लोगों ने मरहूमीन के लिए दुआ मगफिरत की।
जुलूस में मुख्य रूप से इमाम मौलाना अब्दुल्लाह आरिफ , मौलाना राजिउल्लाह, हाफिज एजाज अंसारी,वकील खान, मुश्ताक उर्फ गुड्डू, मो०इदरीस नेता,मो०अफजल अंसारी,अनवर हुसैन अंसारी,फखरे आलम आदि मौजूद रहे।जुलूस के दौरान पुलिस प्रशासन पूरी तरह सतर्क रहा सीओ दिलीप कुमार सिंह के नेतृत्व में थानाध्यक्ष अवधेश राज सिंह ने चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात कर सुरक्षा व्यवस्था का पुख्ता इंतजाम किया।इस दौरान तहसीलदार अरविंद कुमार भी मौजूद रहे।