योगी सरकार काला कानून वापस ले —आर के पाण्डेय एडवोकेट।

0
49

जय जवान, जय किसान, जय विद्वान के साथ अधिवक्ताओं का क्रमिक अनशन 12 वें दिन जारी

पर्दाफ़ाश न्यूज टीम।
—29 दिन से आंदोलनरत हैं हाई कोर्ट के अधिवक्ता।
—शिक्षा सेवा अधिकरण विधेयक 2021 का विरोध।
—जय जवान, जय किसान, जय विद्वान के साथ आंदोलन में नया जोश।
—शहीद भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु को श्रद्धांजलि के साथ मनाया शहीद दिवस।
प्रयागराज। उत्तर प्रदेश सरकार के शिक्षा सेवा अधिकरण विधेयक 2021 का हाई कोर्ट इलाहाबाद के अधिवक्ता विगत 29 दिन से अनवरत विरोध कर रहे हैं।
जानकारी के अनुसार 17 दिन तक न्यायिक कार्य से विरत रहकर आंदोलनरत हाई कोर्ट बार एशोसिएशन विगत 12 दिन से क्रमिक अनशन पर हैं। संयुक्त सचिव प्रशासन अभिषेक शुक्ल के अनुसार 24 मार्च 2021 को शाम 07 बजे अधिवक्ता समाज हाई कोर्ट इलाहाबाद के न्यायविद पवनसुत हनुमान मंदिर से कैंडिल मार्च निकालेगा। इस अवसर पर मंच से अधिवक्ताओं को सम्बोधित करते हुए अधिवक्ता आर के पाण्डेय ने अधिकतम संख्या में साथियों सहित कैंडिल मार्च में सहभागिता हेतु अधिवक्ता, जवान, किसान, छात्र संगठनों का आह्वान किया है। क्रमिक अनशन के संचालक प्रियदर्शी त्रिपाठी ने बताया कि आने वाले समय मे काले कानून के समर्थक नेताओं का विरोध करते हुए उन्हें प्रयागराज में घुसने नही देंगे। क्रमिक अनशन के आयोजक व हाई कोर्ट बार एशोसिएशन के संयुक्त सचिव प्रशासन अभिषेक शुक्ल ने जरुरुई होने पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के आवास के घेराव करने तथा शिक्षा सेवा अधिकरण विधेयक 2021 रूपी काला कानून के वापस होने तक आंदोलनरत रहने का संकल्प व्यक्त किया है। इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम के शहीद भगत सिंह, राजदेव, सुखदेव को श्रद्धांजलि देने हेतु 02 मिनट का मौन रखा गया। आज अधिवक्ताओं ने जय जवान, जय किसान, जय विद्वान के नारे के साथ अपने आंदोलन को तीव्रतम गति से प्रतिदिन के नए कार्यक्रम के साथ आगे बढाने का निर्णय लिया है। आज के क्रमिक अनशन में अभिषेक शुक्ल, प्रियदर्शी त्रिपाठी, आर के पाण्डेय, शशि सिंह, अनुराधा सुंदरम, सुमनलता, आर बी पाल, तरुण त्रिपाठी, विजय सेंगर, पवन यादव, प्रशांत सिंह रिंकू आदि सैकड़ों अधिवक्ता शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here