गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए प्रतिबद्ध है एआरपी मुस्तन शेरुल्लाह, कहा पर्यवेक्षण से विद्यालयों को मिल रही मिशन प्रेरणा की उड़ान

0
47

● एआरपी मुस्तन ने है ठाना, शोहरतगढ़ ब्लॉक को है प्रेरक बनाना

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

विद्यालयों में बच्चों के गुरवत्तापूर्ण शिक्षा व मिशन प्रेरणा के लक्ष्य प्राप्ति के लिए सरकार द्वारा निरन्तर नई तकनीक विधि, योजनाओं का संचालन और आवश्यकता अनुसार शिक्षकों के प्रशिक्षण कराये जा रहे हैं। ब्लॉक में नियुक्त एकेडमिक रिसोर्स पर्सन द्वारा भी अपने बेहतर सपोर्टिव सुपरविजन से शिक्षक, शिक्षिकाओं को सहयोग प्रदान किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और बेसिक शिक्षा मंत्री द्वारा माह सितम्बर 2019 में मिशन प्रेरणा की घोषणा उपरांत महानिदेशक स्कूल शिक्षा के विभिन्न निर्देशों के अनुपालन में मिशन प्रेरणा की संचालित गतिविधियों, योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए खण्ड शिक्षा अधिकारी अभिमन्यु के साथ ब्लॉक एकेडमिक रिसोर्स पर्सन मुस्तन शेरुल्लाह क्षेत्र के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में अपने कुशल नेतृत्व और बेहतर सहयोगात्मक सुपरविजन से शिक्षक, शिक्षिकाओं के अन्दर प्रेरणास्रोत बनकर कार्य में तन्मयता से जुटे हुए हैं। कोरोना काल में भी इनकी सक्रियता को देख शिक्षा विभाग व तहसील प्रशासन ने कार्य की प्रशंसा की। तेज तर्रार , कुशल प्रशिक्षक, नेतृत्वकर्ता व बेहतर सपोर्टिव सुपरविजनकर्ता के रूप में एआरपी मुस्तन शेरुल्लाह के बेहतर कार्य प्रदर्शन के चलते ही इन्हें शिक्षक दिवस पर खण्ड शिक्षा अधिकारी द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया गया।

एआरपी मुस्तन ने अपने मूल विद्यालय लेदवा को बेहतर बनाने के साथ-साथ अपने गोद लिए हुये प्राथमिक विद्यालय महथा को भी प्रधानाध्यापक और सामुदायिक सहयोग से आकर्षक व गुरवत्तापूर्ण शिक्षा केन्द्र के रूप में तैयार करने में योगदान दिया जा रहा है। बच्चों की पढ़ाई लिखाई कोरोना संकट के दिनों में प्रभावित न हो, इसके लिए मिशन प्रेरणा के तहत संचालित ई- पाठशाला संचालन को क्रियाशील बनाये रखने के लिए प्राप्त कन्टेन्ट शैक्षिक सामग्री को शिक्षकों तक पहुंचाने,मोहल्ला पाठशाला आयोजन में योगदान, दूरदर्शन, रेडियो आकाशवाणी, रीड एलांग एप्प, दीक्षा एप्प, सम्पर्क एप्प, हस्तपुस्तिका आदि के माध्यम से जानकारी उपलब्ध कराने की पहल में सक्रिय सहभागिता निभाते रहे। अब लम्बे समय अन्तराल के बाद खुल रहे सरकारी स्कूली बच्चों को मिशन प्रेरणा के लक्ष्यों को प्राप्त कराने, विद्यालय को प्रेरक बनाने, सरकार द्वारा चलाई जा रही मिशन प्रेरणा की गतिविधियों के सुचारू अनुपालन में सभी शिक्षकों को स्वस्थ्य मन से योगदान देते हुए जिम्मेदारी पूर्वक कार्य सम्पादित करने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है, ताकि नवनिहालों के भविष्य को संवारा जा सके। इतना ही नहीं विद्यालय का परिवेश स्वच्छ ,सुंदर व आकर्षक बने, इसके लिए भी स्कूल पर अवस्थापना सुविधाओं को सामुदायिक सहयोग, कम्पोजिट व कायाकल्प के माध्यम से बेहतर बनाने के लिए प्रधानाध्यापक व एसएमसी को जागरूक भी कर रहे हैं। ब्लाक क्षेत्र के सैकड़ों विद्यालय शिक्षकों की सजगता से आकर्षक बन गए हैं, विद्यालय की दीवारों के चित्रांकन बच्चों को भाषा, गणित, विज्ञान ,अंग्रेजी आदि विषयों के पठन पाठन कार्य को आसान बनायेंगें। बच्चों के स्कूल पहुंचने पर स्वस्थ्य माहौल मिलने पर बच्चों और अभिभावकों को भी आनंद आयेगा और रुचिपूर्ण वातावरण में सरकारी स्कूलों के बच्चे शिक्षा हासिल कर सकेंगें। मासिक केपीआई का पालन कर समय समय पर शिक्षक संकुल को साथ लेकर विद्यालय शिक्षकों के साथ बैठक कर डीसीएफ फॉर्म भरने के लिए एआरपी द्वारा प्रेरित कर विद्यालय में मिशन प्रेरणा की संचालित गतिविधियों को पालन कराने के लिए प्रेरणास्रोत की भूमिका में सहयोगात्मक कार्य भी किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here