मानव तस्कर के चंगुल से बची नेपाली लड़की, भारत के मायानगरी में नौकरी के बहाने ले जा रहा था नेपाली युवक, एसएसबी की सक्रियता व NGO की पूछताछ में खुली पोल

0
63

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

43वाहिनी सशस्त्र सीमा बल की सीमा चौकी खुनुवा के जवानों ने सोमवार को मानव तस्करी होने से एक नेपाली लड़की को बचाया है। मानव तस्कर का नाम रामबृक्ष कहार उम्र 27 वर्ष(लगभग) पुत्र सिराउ कहार, निवासी-यशोधरा गांवपालिका वार्ड नं 04, थाना-तौलिहवा, जिला-कपिलवस्तु (नेपाल) बताया गया।

प्रतीकात्मक फ़ोटो सर्च by गूगल

सीमा चौकी खुनुवा प्रभारी व स्थानीय NGO मानव सेवा संस्थान “सेवा” के द्वारा प्राथमिक पूछ-ताछ से पता चला उपरोक्त मानव तस्कर पीडित लड़की को नौकरी दिलवाने व पैसे का लालच देकर नेपाल से भारत के शहर मुम्बई ले कर जाने की फिराक में था। जाँच पड़ताल के बाद पीड़ित लड़की को, NGO मानव सेवा संस्थान (भारतीय)।व नेपाल PRC (NGO) और नेपाल APF की उपस्थिति में नेपाल पुलिस चौकी मर्यादपुर, थाना-तौलिहवा (नेपाल) को अग्रिम कार्यवाही हेतु सुपुर्द कर दिया गया।

43वाहिनी के कार्यवाहक कमांडेंट अमित सिंह ने कहा कि वर्तमान समय में मानव तस्करी के मामलों पर सशस्त्र सीमा बल के द्वारा पैनी नजर रखी जा रही है जिससे कि किसी भी गरीब परिवारों के बच्चों और लड़कियों को मानव तस्करी में संलिप्त व्यक्ति, नौकरी, शादी व प्यार का झांसा दे कर तथा बहला फुसला कर नेपाल से भारत या भारत से नेपाल तस्करी न कर पाए और उनका शोषण न हो सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here