किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने कृषि भवन परिसर में धरना प्रदर्शन कर योगी सरकार पर साधा निशाना, लगाए, लगाए गंभीर आरोप

0
165

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
सिद्धार्थनगर

भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) संगठन के जिलाध्यक्ष प्रदीप कुमार पांडेय की अध्यक्षता में कृषि भवन परिसर में किसान यूनियन के लोगों ने विशाल धरना प्रदर्शन कर योगी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि किसान कटाई के समय अपना अमूल्य समय निकाल कर आंदोलन करने के लिए मजबूर इसलिए है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ख्वाबों का दाम बढ़ाया गया जिसकी भारतीय किसान यूनियन ने घोर निंदा की। उन्होंने यह भी कहा कि किसानों को ₹100 प्रति कुंटल पराली का भी देने के लिए कहा गया किसान पराली को नहीं जलाएगा लेकिन माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार पराली पर ₹100 कुंटल दिलाया जाए।

जनपद के सभी किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड बनवाया जाए तथा उनके खाते में 30 जुलाई को बिना किसी अनुमति के फसल बीमा के नाम पर प्रीमियम काट दिया गया। इस तरह करोड़ों रुपए जनपद के किसानों से ले लिया गया। किसान क्रेडिट कार्ड का कर्ज संपूर्ण माफ किया जाए कृषि विभाग द्वारा उत्तर प्रदेश को इसकी जानकारी कराई जाए कि सीजन में कृषि विभाग व प्राइवेट खाद की दुकानों द्वारा द्वारा मिलकर जनपद में यूरिया की कालाबाजारी की गई। नेपाल बॉर्डर पर यूरिया का 400 से ₹500 तक बेचा गया जिसकी संपूर्ण कीमत 266 है। इन सभी मांगों को लेकर किसान बिल को पारित ना करने का खुलकर विरोध किया। इस दौरान प्रदेश संगठन मंत्री राम चौधरी, सुभाष, सतीश चंद्र झा, राजेंद्र प्रसाद चौधरी, राम नवल, सूर्य प्रकाश सिंह, महेंद्र कुमार चौधरी, अनूप कुमार चौधरी, राकेश कुमार श्रीवास्तव, नरसिंह पांडे, अनिल कुमार मौर्या आदि लोग उपस्थित रहे।