शोहरतगढ़ पुलिस पर लगा दबंगई सहित गम्भीर आरोप, प्रभारी निरीक्षक रामअशीष यादव ने आरोपों को किया खारिज, कहा तस्करी के कारोबार में संलिप्त है आरोपी, लोगों को कर रहे है गुमराह

0
241

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

शोहरतगढ़ थाना क्षेत्र के धनौरा मुस्तहकम गांव निवासी पीड़िता सकीना खातून पत्नी वालिद हुसैन ने एसपी को प्रार्थना पत्र देकर शोहरतगढ़ थाने के दो सिपाहियों पर रिश्वत मांगने, मारने, मोबाइल फोन छिनने व धमकी देने का आरोप लगाया है। एसपी को दिए गए प्रार्थना पत्र में पीड़िता सकीना खातून ने लिखा है कि शोहरतगढ़ थाने के दो पुलिस कर्मी पिछले एक साप्ताह से दिन-रात मेरे घर पर आकर अपशब्द कहते हुए धमकी देते हुए दस हजार रुपये की मांग कर रहे हैं। पीड़िता का आरोप है कि शोहरतगढ़ थाने के अरविंद कुशवाहा, अनिल कुमार दोनों पुलिस वाले कहते हैं कि दस हजार रुपये नहीं दोगी तो तुम्हारे पति व घर में अन्य पुरुषों को फर्जी मुकदमे में फसाकर जेल में बंद कर देंगे। पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया है कि थाने के एक पुलिस कर्मी मेरे घर पर आकर अपशब्द कहते हुए रुपये मांग रहा था। इस दौरान मैं उसका अपने मोबाइल फोन से वीडियो बना रही थी तभी पुलिस ने मुझे दो थप्पड़ मार कर मोबाइल फोन छीन लिया और आये दिन हमें परेशान करते रहते हैं। पीड़िता ने एसपी को दिए गए प्रार्थना पत्र में यह भी लिखा है कि शोहरतगढ़ थाना के एसओ को निर्देश देकर हमारे परिवार की सुरक्षा कराई जाएं और दोनों दोषी पुलिस कर्मियों पर कर्रवाई की जाएं। इस संबंध में एसओ राम आशीष यादव ने बताया कि धनौरा मुस्तहकम गांव निवासी महिला सकीना द्वारा थाने के दो पुलिस कर्मी पर लगाया गया आरोप झूठा है। उक्त लोग तस्करी के कारोबार में संलिप्त है और पुलिस से बचने के लिए बेबुनियाद आरोप लगा रहे है।