एस०एस०बी० अलीगढ़वा के जवानों की सतर्कता से बची 15 वर्षीय नेपाली नाबालिक लड़की, पूछताछ में खुली पोल, नौकरी का झाँसा देकर, उसके घरवालों को बिना बताए ले जा रहा था दिल्ली शहर, गिरफ्तार

0
281

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
सिद्धार्थनगर

आज फिर 43वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल की सीमा चौकी अलीगढ़वा के जवानों ने मानव तस्करी का पर्दाफाश किया है। एसएसबी टीम ने बताया कि मंगलवार को सीमा स्तम्भ संख्या 549(44) के पास से मुखबिर की सूचना पर एक 15 वर्षीय नाबालिक नेपाली लड़की को मानव तस्कर सन्तोष बनिया पुत्र धर्मराज बनिया, गाँव- डुमरा, मायादेवी गांव पालिका वार्ड नं०06, पुलिस चौकी- चाकर चौरा, थाना- पकड़ी, जिला- कपिलवस्तु (नेपाल) के द्वारा तस्करी किये जाने से बचाया है। सशस्त्र सीमा बल की सीमा चौकी अलीगढ़वा के प्रभारी के द्वारा मानव तस्कर से गहनता से पूछताछ करने पर पता चला कि उपरोक्त मानव तस्कर नेपाली नाबालिक लड़की की गरीबी का फायदा उठाकर उसे बहला फुसला कर पैसे व नौकरी का झाँसा देकर, उसके घरवालों को बिना बताए नेपाल से भारत के जिला सिद्धार्थनगर से उसके सहयोगी की मदद से दिल्ली शहर में ले जाने की फिराक में था लेकिन सशस्त्र सीमा बल के जवानों की मुस्तैदी के कारण पकड़ा गया।

जाँच पड़ताल व कागजी कार्यवाही करने के उपरान्त मानव तस्कर एवं पीड़ित नेपाली नाबालिक लड़की को नेपाल पुलिस चौकी चाकर चौरा, थाना- पकड़ी, जिला- कपिलवस्तु (नेपाल) को अग्रिम कार्यवाही हेतु सुपुर्द कर दिया गया।

43वाहिनी के कार्यवाहक कमांडेंट अमित सिंह ने कहा की वर्तमान समय में मानव तस्करी के मामलों पर सशस्त्र सीमा बल के द्वारा पैनी नजर रखी जा रही है जिससे कि किसी भी गरीब परिवारों के बच्चों और लड़कियों को मानव तस्करी में संलिप्त व्यक्ति, नौकरी, शादी व प्यार का झांसा दे कर तथा बहला फुसला कर नेपाल से भारत या भारत से नेपाल तस्करी न कर पाए और उनका शोषण न हो सकें ।