अजब गजब सरकारी तंत्र- पैमाइश व जाँच के बजाय शिकायतकर्ता से मारपीट व लूटपाट, ग्राम प्रधान पर लगा चकरोड कब्जा का आरोप

0
160

● एसओ, एसपी, आईजी, डीएम, मुख्यसचिव व राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से न्याय की गुहार

पर्दाफ़ाश न्यूज टीम
कौंधियारा, प्रयागराज

राष्ट्रपिता गांधी के रामराज वाले सपने का देश आज रावण राज से भी बदतर हालात झेल रहा है जिसका ताजा प्रकरण भ्रष्टाचार की शिकायत पर जिम्मेदार लोगों द्वारा शिकायतकर्ता के साथ मारपीट, लूटपाट व मौन पुलिसिया व्यवस्था का मामला सामने आया है।

जानकारी के अनुसार प्रयागराज के कौंधियारा थाना क्षेत्र के पीड़ी ग्राम पंचायत में समाजसेवी सर्वेश शुक्ल व उनके ग्रामवासियों द्वारा आईजीआरएस, तहसील दिवस व उच्च अधिकारियों को शिकायत भेजकर आरोप लगाया गया है कि ग्राम प्रधान पीड़ी व उनके पति द्वारा ग्राम पीड़ी के चकमार्ग संख्या 245 पर अवैध कब्जा करके शौचालय व बाउंड्री बना ली गई है जिससे ग्रामवासियों व किसानों का सार्वजनिक मार्ग अवरुद्ध है। हल्का लेखपाल की सूचना पर मौके पर पैमाइश व जांच में सहयोग हेतु गए शिकायतकर्ता सर्वेश शुक्ल के साथ लेखपाल की मिलीभगत व शह पर प्रधानपति शिवसूरत शुक्ल, आशीष कुमार, विश्वनाथ व तीन अन्य द्वारा मारपीट करते हुए सर्वेश की सोने की जंजीर व मोबाइल छीन लिया गया जिसकी शिकायत सर्वेश ने थाना हाजा के एसओ, एसएसपी, आईजी, डीएम, मुख्यसचिव व राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से की है लेकिन अभी तक कोई विधिक कार्यवाही नही हुई है।

इस बावत बात करने की कोशिश पर लेखपाल द्वारा कोई जवाब नही दिया गया जबकि एसओ कौंधियारा ने बताया कि अभी तक एफआईआर या एनसीआर नही दर्ज है। फिलहाल यदि चकमार्ग पर कब्जा नही हुआ है तो सही जांच में क्या दिक्कत है और यदि प्रधान द्वारा कब्जा हुआ है बड़ा सवाल यह है जब रक्षक ही भक्षक बन जाये व पुलिस मौन रहे तो न्याय कहाँ से मिलेगा?