तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल सहित समाज सेवियों ने पीड़ित परिवार के प्रति व्यक्त की संवेदना, बोहली संदिग्ध हत्याकाण्ड के पीड़ित के घर पहुँचाया खाद्यान्न, की आर्थिक मदद, सांसद प्रभारी सूर्यप्रकाश पाण्डेय, शिवशक्ति शर्मा, अनिल अग्रहरि भी रहे मौजूद

0
194

● 18 सितम्बर को बोहली में मिली थी संदिग्ध परिस्थितियों में दीपक दूबे की लाश, परिजनों ने जताई थी हत्या की आशंका
● पुलिस अधीक्षक राम अभिलाष त्रिपाठी, हियुवा सुभाष गुप्ता के पहुँचने के बाद शोहरतगढ़ पुलिस ने दर्ज किया था मुकदमा
● सांसद प्रभारी सूर्य प्रकाश पाण्डेय, शिवशक्ति शर्मा के साथ गये भाजपा नेता अनिल अग्रहरि ने मौके पर की पीड़ित परिवार की आर्थिक मदद

श्रवण कुमार पटवा की रिपोर्ट
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

शुक्रवार को शोहरतगढ़ तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल अपने राजस्व टीम के साथ थानाक्षेत्र के ग्राम पंचायत बोहली पहुँचे जहाँ, बीते दिनों 19 वर्षीय दीपक दूबे की संदिग्ध परिस्थितियों में पूरब तालाब में लाश मिली थी। घटना से द्रवित होकर तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल ने पूर्व में भी घटना स्थल का मुआयना कर पीड़ित परिवार को हर सम्भव मदद की सांत्वना दी थी। साथ ही यह भी कहा था कि तहसील प्रशासन व स्थानीय जनप्रतिनिधियों आप के साथ है। आप घबराएं नहीं तहसील प्रशासन आपकी पूरी मदद करेगा।

शुक्रवार को तहसील क्षेत्र के बोहली में घटी घटना पर पीड़ित परिजनों से मिलने के लिए तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल के साथ सांसद प्रभारी सूर्य प्रकाश पाण्डेय, शिवशक्ति शर्मा, भाजपा नेता अनिल अग्रहरि आदि भी गये। तहसील प्रशासन व सांसद प्रभारी सूर्यप्रकाश पाण्डेय, आशुतोष शुक्ला, सगीर चौधरी व अन्य समाजसेवियों की मदद से यथाशक्ति खाद्यान्न (चावल, आटा, सरसों तेल, नमक, मसाला, चीनी आदि) के साथ सहित उनकी आर्थिक मदद भी की। उन्होंने यह भी कहा कि पूरे प्रकरण को जिलाधिकारी महोदय के समक्ष रखा जाएगा और उनसे शासन द्वारा जो भी मदद मिल पाएगी आप को दिलाई दिलाई जाएगी पूरा तहसील प्रशासन व जिला प्रशासन आपके साथ हैं। रास्ता खराब होने पर उन्होंने नाराजगी जताई थी, जिसका संज्ञान लेते हुए ग्राम बो‍हली में एक ट्राली राबीश गिराया गया।

बताते चले कि 17 सितम्बर 20 को दीपक दूबे के साथ परिजन सोने के लिए चले गए और वह 18 सितम्बर को नही मिला। 20 सितम्बर को देर शाम को गाँव के उत्तर दिशा में स्थित तालाब में उसकी लाश मिली, जिसे देखने पर ही लगा रहा था कि इसकी निर्मम हत्या की गई है। जिसकी तहरीर मृतक के पिता दुखरन दूबे ने शोहरतगढ़ थाने पर दे दी। बहरहाल नामजद तहरीर मिलने के बाद पुलिस अभियुक्तों से दूर है।