सिद्धार्थ वेलफेयर सोसायटी के कार्यकर्ताओं ने शोहरतगढ़ कस्बे में अनोखे अंदाज में मनाया मोहर्रम का त्यौहार, कब्रिस्तान पहुंचकर किया पौधारोपण, कर्बला के शहीदों एवं हजरत इमाम हुसैन की इंसाफ एवं बलिदान के लिए दी गई शहादत को किया नमन

0
321

अरविन्द द्विवेदी की रिपोर्ट
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

सिद्धार्थ वेलफेयर सोसाइटी के कार्यकर्ताओं व युवा नौजवानों ने शोहरतगढ़ कस्बे में दसवीं मोहर्रम का त्यौहार अनोखे अंदाज में मनाया, कब्रिस्तान में 72 की संख्या में पौधारोपण किया देश के सलामती की दुआ मांगी।

कार्यकर्ताओं व युवा साथियों ने दस मोहर्रम को इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों की शहादत की याद में कब्रिस्तान पहुंचकर सोशल डिस्टेंस के साथ 72 गुलाब के पौधों व अन्य पौधों का रोपण किया। इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों की शहादत को याद करते हुए कोरोना के खात्मे के लिए दुआ भी मांगी।

10वीं मोहर्रम पर पौधारोपण के दौरान प्रबंधक वकार मोइज़ खान ने कहा कि आज का दिन इस्लाम धर्म के लिए बेहद अहम है। आज के ही दिन हजरत इमाम हुसैन करबला की जंग में अपने 72 साथियों के साथ शहीद हो गए थे। इसलिए इस महीने को गम के महीने के रूप में मनाया जाता है और उनकी शहादत की याद में ही ताजिया और जुलूस निकाला जाता है, लेकिन कोरोना महामारी के वजह से ताजिया जुलूस ना निकल पाने के कारण हमारे कार्यकर्ताओं ने नये तरीके से अनोखे अंदाज में सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए 72 की संख्या में पौधारोपण करके मोहर्रम का त्यौहार मनाया।

व्यापार मंडल महामंत्री आज़म अंसारी ने कहा कि मुहर्रम पर कर्बला के शहीदों एवं हजरत इमाम हुसैन की इंसाफ एवं बलिदान के लिए दी गई शहादत को नमन करता हूँ। आज एक अच्छी पहल से मोहर्रम का त्यौहार मनाया गया। दसवीं मोहर्रम के दिन पौधारोपण कार्यक्रम के दौरान प्रबंधक वकार मोइज़ खान, छात्र नेता मो0 शहजाद सिद्दीकी, व्यापार महामंत्री आजम अंसारी, अरमान अंसारी, नौशाद, अली हुसैन, इरशाद, इसरार आदि लोग मौजूद रहें।