प्रदेश में 30 सितंबर तक सार्वजनिक समारोह, धार्मिक उत्सव व राजनीतिक कार्यक्रमों पर लगा प्रतिबंध, सार्वजनिक रूप से मूर्तियां, ताजिया एवं अलम भी नहीं किए जाएंगे स्थापित

0
202

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज/लखनऊ

प्रदेश में 30 सितंबर तक सार्वजनिक समारोह, धार्मिक उत्सव, राजनीतिक प्रतिबंध लगा दिया गया है। सार्वजनिक रूप से मूर्तियां, ताजिया एवं अलम भी स्थापित नहीं किए जाएंगे।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इस बारे में आदेश जारी किया है। इसमें कहा गया है कि सभी प्रकार के जुलूस एवं झांकी पर भी प्रतिबंध रहेगा। यह रोक इसलिए लगाई गई है क्योंकि ऐसी आशंका है कि असामाजिक तत्वों द्वारा कानून- व्यवस्थाएवं सांप्रदायिक सौहार्द को भंग करने का प्रयास किया जा सकता है।

सतर्कता• सभी प्रकार के जुलूस और झांकी पर भी रहेगा प्रतिबंध आंदोलन एवं सभाएं आयोजित करने पर धार्मिक स्थलों और ताजमहल की सुरक्षा और पुख्ता करने के निर्देश, हालांकि घरों में मूर्तियां, ताजिया एवं अलम की स्थापना पर किसी प्रकार की रोक नहीं होगी।

सभी जिलाधिकारियों, पुलिस कप्तानों, पुलिस कमिश्नरों को भेजे गए आदेश में सभी धार्मिक स्थलों विशेषकर श्रीकृष्ण जन्मभूमि मथुरा, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र अयोध्या, काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी व ताजमहल की सुरक्षा और पुख्ता करने को कहा गया है।