पशु आश्रय स्थल व गौशालाओं को ग्राम पंचायतें लगा रहीं पलीता, सरकार व्यस्त, भ्रष्टाचारी मस्त, जनता त्रस्त

0
222

आर के पाण्डेय की रिपोर्ट
प्रयागराज / सुल्तानपुर

सरकार अच्छे कार्यों का हवाला देकर कितनी भी व्यस्त दिखे लेकिन भ्रष्टाचार में मस्त जनप्रतिनिधि व अधिकारी सरकारी योजनाओं को पलीता लगाकर सरकार के खोखले दावों से किसानों को मिटाते हुए जनता के अरमानों को भी ध्वस्त कर रहे हैं व जनता को त्रस्त कर रहे हैं। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण ग्राम पंचायतों द्वारा पशु आश्रय स्थल व गौ शालाओं को पलीता लगाना है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में छुट्टा जानवरों की बड़ी समस्या है जिसके निराकरण के लिए वर्तमान सरकार की महती योजना पशु आश्रय स्थल व गौ शालाओं का निर्माण करके इन पर नियंत्रण करना है परंतु ग्राम पंचायतों के जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के भ्रष्टाचार के कारण यह बड़ी योजना केवल कागजों पर है जिससे बस्ती, गोंडा, अयोध्या, सुल्तानपुर आदि सभी जिलों के किसानों की फसलों को आवारा, छुट्टा जानवर व गौवंश चट कर जा रहे हैं जिससे किसान खून के आंसू रोने को मजबूर है तो दूसरी तरफ यह जानवर सार्वजनिक मार्ग व नेशनल हाइवे के आवागमन को भी बाधित करते हैं। यक्ष सवाल तो यह है कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध जीरो टॉलरेंस की बात करने वाली वर्तमान सरकार की ऐसी क्या मजबूरी है कि वह ऐसे विकट समस्या पर खामोश है?