अधिकारियों पर भारी। राजेश कौशिक की कोटेदारी।। —राम भरोसे रामराज का सपना।

0
471

कोटेदार, सप्लाई इंस्पेक्टर व एआरओ की मनमानी से 6 महीने से कुसुम राशन से महरूम

पर्दाफाश न्यूज टीम, प्रयागराज।
—अंगूठा लगवाने के बाद भी पर्ची व राशन नही मिलता।
—सप्लाई इंस्पेक्टर,एआरओ व डीएसओ की मिलीभगत से अनाज घोटाले का बड़ा खेल।
नैनी,प्रयागराज, 14 अगस्त 2020। कोटेदार, सप्लाई इंस्पेक्टर व एआरओ की मिलीभगत व डीएसओ की जानकारी में बेसहारों के राशन पर मनमानी व अनाज घोटाले का बड़ा खेल प्रयागराज के नैनी में खेला जा रहा है लेकिन अंधेर नगरी चौपट राजा के तर्ज पर कहीं सुनवाई नही है।
जानकारी के अनुसार प्रयागराज महानगर के नैनी स्थित काशीराम आवास योजना कालोनी के कोटेदार राजेश कौशिक के दबंगई से बेसहारा राशन कार्ड धारक तक परेशान हैं। ऐसे ही एक बेसहारा महिला कुसुम ने बताया है कि यह कोटेदार उससे विगत 06 महीने से अंगूठा लगवाता है लेकिन न तो पर्ची दी व न ही राशन। यक्ष प्रश्न तो यह है कि कोरोना संकट व लाकडाउन में प्रतिमाह 02 बार अनिवार्य रूप से राशन देने की योजना में इन बेसहारों को राशन नही मिला तो वह राशन गया कहाँ? इसी तरह यहां के रामू केशरवानी ने अपने 02 बच्चों का नाम बढाने हेतु काफी पहले आवेदन किया था परंतु अभी तक यूनिट नही बढ़ा जिससे प्रतिमाह 20 किग्रा राशन का नुकसान हो रहा है। बता दें कि दोनों ही केस की जानकारी सप्लाई इंस्पेक्टर, एआरओ, एडीएम आपूर्ति व डीएसओ तक सबको है व इन सबके ह्वाट्सएप पर भी विवरण भेजा जा चुका है। अंधेर नगरी चौपट राजा की तर्ज पर कोटा संचालित करने का मनमाना रवैया अब गरीबों पर भारी पड़ रहा है। इस कोटेदार राजेश कौशिक द्वारा आम जनता से बताया जाता है कि वह रजिस्टर्ड वकील भी है व पत्रकार भी है जबकि पूर्व बसपा सरकार में यह स्वयं को एक नेता बताता था तो आज के वर्तमान सरकार में भी यह ऊंची पकड़ का दावा करता है जोकि शायद सही भी हो तभी सभी अधिकारी इस कोटेदार के आगे नतमस्तक हैं। इसके पहले भी इसकी काफी शिकायतें हो चुकी हैं। इस प्रकरण में विगत 03 दिन से कोटे की दुकान बंद होने से कोटेदार से मुलाकात नही हुई जबकि अनेकों बार फोन करने पर कोटेदार,सप्लाई इंस्पेक्टर, एआरओ व डीएसओ फोन नही उठाते हैं। रामू केशरवानी द्वारा आईजीआरएस पर शिकायत दर्ज कराई गई है जबकि अनपढ़, बेसहारा व लाचार कुसुम कहां जाए इतना पूछने की भी हैसियत कुसुम में नही है। फिलहाल रामराज का दावा करने वाली सरकार में कोटा भी राम भरोसे चल रहा है।