कोरोना संकट काल में गुरु की महत्ता

0
347

नैनी, प्रयागराज न्यूज
कोरोना संकट काल में गुरु पूर्णिमा की महत्ता

पर्दाफाश न्यूज टीम।
—कोरोना संकट काल में सच्चे गुरु का समाजहित में सामने आकर योगदान आवश्यक।—समाजसेवी आर के पाण्डेय एडवोकेट।
नैनी, प्रयागराज, 05 जुलाई 2020। गुरु पूर्णिमा की महत्ता आज कोरोना संकट काल में अधिक बढ़ गई है व आज सच्चे गुरुजनों को समाजहित में सामने आकर अपना योगदान देना चाहिए।
आज उपरोक्त बातें मीडिया से करते हुए एनजीओ परमेंदु वेलफेयर सोसाइटी के संस्थापक प्रबन्धक आर के पाण्डेय एडवोकेट ने कहा कि गुरु पूर्णिमा की वास्तविक सार्थकता इसी में है कि आज विश्वव्यापी महामारी राष्ट्रीय आपदा कोरोना संकट काल में सच्चे गुरु सामने आकर समाजहित में अपना योगदान देकर अपने शिष्यों व उनके परिवारी जनों को कोरोना से बचाव के उपायों की शिक्षा के साथ सुरक्षित व्यक्ति सुरक्षित समाज पर अपनी कार्य योजना को मूर्त रूप दें। इतिहास गवाह रहा है कि जब भी समाज व राष्ट्र पर संकट आया तब वशिष्ठ, व्यास व चाणक्य आदि के रूप में गुरु ही सामने आकर समाज व राष्ट्र को नई दिशा देकर उसकी रक्षा की है। आज जब पूरा विश्व कोरोना वायरस से त्राहिमाम कर रहा है तब यह अनिवार्य आवश्यकता है कि सच्चे गुरु सामने आकर व्यक्ति, समाज, राष्ट्र व विश्व का कल्याण करें।