रोजगार सेवक को ईमानदारी की मिली सजा मौके पर काम कर रहे लोगों की सही हाजिरी भरने पर प्रधान ने की मारपीट, प्रकरण का विडियो वायरल

0
214

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

आखिरकार कुछ एक निरीक्षण में क्या जिले के जिम्मेदार अधिकारी भ्रष्टाचार पर लगाम लगा सकते है? हा यह बात जगजाहिर है कि जब जब जिले के उच्च और जिम्मेदार अधिकारियों ने निरीक्षण किया, निरीक्षण में कमियां मिलने पर उन पर जबरजस्त गाज गिरी है। हाल ही के दिनों में सिद्धार्थनगर जनपद के के कई विकास खंडों में कई सचिव सस्पेंड हुए और कई रोजगार सेवकों पर नौकरी का भी संकट सामने आ रहा है रहा है। इसी पीड़ा से ग्रसित होकर जब ग्राम रोजगार सेवक ने अपनी ईमानदारी दिखाई दिखाई तो गांव के दबंग प्रधान ने दबंग प्रधान ने रोजगार सेवक से मारपीट पर उतारू हो गया और उसे जान से मारने की धमकी भी दी।

यह मामला सिद्धार्थनगर जनपद के बढ़नी विकासखंड के ग्राम पंचायत खजुरिया शर्की का है। जहाँ एक रोजगार सेवक ने खण्ड विकास अधिकारी/कार्यक्रम अधिकारी को संबोधित करते हुए अपनी दर्द भरी कहानी को बयां की। उसने अपने शिकायती पत्र में रोजगार सेवक संजय कुमार ने लिखा कि वह ग्राम पंचायत खजुरिया शर्की में रोजगार सेवक के पद पर कार्यरत है। प्रार्थी के ग्राम पंचायत में मनरेगा योजना द्वारा मोहन के खेत से गोवंश आश्रम तक सेक्टर रोड पर मिट्टी पटाई का कार्य व गोवंश आश्रम में तालाब खुदाई का कार्य चल रहा है। प्रार्थी आज सुबह यानी 31 मई को लगभग 9:00 बजे कार्यस्थल पर कार्य कराने हेतु पहुंचा तो मौके पर सेक्टर रोड पर कार्य नहीं हो रहा था केवल तालाब पर कार्य हो रहा था जिस पर कुल योग 31 मजदूर कार्यरत थे, जिसमें 17 महिला व 14 पुरुष 14 पुरुष शामिल रहे। मेरे द्वारा जैसे ही हाजिरी लिया गया उसके बाद ग्राम प्रधान अपने सहयोगियों के साथ कार्य स्थल पहुंचे। इन्होंने लेबरों की संख्या पूछी और मेरे द्वारा कुल 31 लोगों की हाजिरी की बात कही की बात कही गई। उसके बाद प्रधान द्वारा मुझ पर फर्जी हाजिरी फर्जी हाजिरी लगाने का दबाव बनाने जाने लगा, मेरे मना करने पर वह हमें गाली देने लगे नौकरी से निकालने की धमकी भी देने लगे, जिससे मैं तुरंत कार्यस्थल से ब्लॉक के लिए निकल गया। इसके बाद प्रधान द्वारा रास्ते में डढ़उल और बैरीहवा के बीच नदी के पास आकर फाइल छीन कर फाड़ दिया गया जिसमें आवश्यक कागजात फट गया। उसके बाद प्रधान व उनके सहयोगियों द्वारा अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए मुझे लाठी से मारने लगे। जिस से प्रार्थी को काफी चोटें आई प्रार्थी को काफी चोटें आई प्रार्थी किसी तरह मौके से अपनी जान बचाकर भाग निकला घटनाक्रम से प्रार्थी बहुत बहुत डरा हुआ है क्योंकि प्रधान द्वारा प्रार्थी को जान से मारने की धमकी भी दिया जा रहा है।, यह तो शिकायतकर्ता की बात है यही नहीं स्थानीय समाचार पत्र पत्र में “जेसीबी से तालाब में हो रही खुदाई” नाम से प्रमुखता से प्रकाशन किया गया।

यह तो ऐसे मामले हैं जिनका प्रकाशन हो गया है लेकिन कुछ मामले ऐसे भी हैं जिन पर ना तो किसी ना तो किसी की नजर पड़ती है और ना ही विभाग के जिम्मेदार अधिकारी अपनी नजरें इनायत करते हैं और मामला टाय-टॉय फिस्स हो जाता है। उक्त के संदर्भ संदर्भ में प्रभारी निरीक्षक ढेबरुआ तहसीलदार सिंह ने बताया कि प्रश्नगत प्रकरण में किसी तरह की तहरीर नहीं मिली है नहीं मिली की तहरीर नहीं मिली है नहीं मिली है तहरीर मिलने के बाद कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here