कोविड-19 ड्यूटी कर कोरोना योद्धा के रुप में शिक्षक व शिक्षामित्र दे रहे योगदान, ब्लॉक पर प्रवासी मजदूरों के डाटा फीडिंग कार्य का कर रहे सत्यापन

0
208

मुस्तन शेरुल्लाह की रिपोर्ट
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

कोरोना वायरस महामारी के बीच दूसरे राज्यों और शहरों से बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर व कारोबारी लोग अपने अपने घरों की ओर वापस हो रहे हैं। वापसी कर रहे मजदूरों को प्रशासन बीमारी से बचाने के लिए होम क्वारन्टीन करा रहा है। मजदूरों के आधार संख्या, पता, मोबाइल नंबर, बैंक खाता समेत उनके कार्य विवरण का सत्यापन तहसील प्रशासन द्वारा कराया जा रहा है। इस कार्य में ब्लॉक क्षेत्र के तमाम शिक्षक व शिक्षामित्र खंड विकास अधिकारी कार्यालय पर बने ब्लाक कोरोना नियंत्रण कक्ष पर अपना योगदान देकर तेजी से डेटा सत्यापन कार्य में जुटे हुए हैं और कुछ अध्यापक, शिक्षा मित्र तहसील मुख्यालय के क्वारन्टीन सेंटर, थर्मल स्क्रीनिंग जांच सेन्टर सेठ राम कुमार खेतान इंटर कालेज में कोरोना योद्धा के रूप में योगदान दे कर जिम्मेदारी निभा रहे हैं।

उप जिला अधिकारी शोहरतगढ़ अनिल कुमार के निर्देशन में कराए जा रहे डाटा फीडिंग कार्य को खंड शिक्षा अधिकारी अभिमन्यु व खंड विकास अधिकारी एजाज़ अहमद की देखरेख में संपन्न कराया जा रहा है। ब्लॉक पर सुबह से ही बड़ी संख्या में शिक्षक पहुंचकर प्रवासी मजदूरों को दूरभाष के माध्यम से जानकारी लेकर सत्यापन का कार पूर्ण करते हुए रिपोर्ट तहसील प्रशासन को सुपुर्द कर रहे हैं। खण्ड शिक्षा अधिकारी शोहरतगढ़ अभिमन्यु,व खण्ड शिक्षा अधिकारी बढ़नी चन्द्र भूषण पांडेय भी शिक्षकों व राजस्व विभाग के कर्मचारियों के साथ कोविड -19 में जिम्मेदारी से लगे हुए हैं।
ड्यूटी कार्य के दौरान शिक्षक आलोक श्रीवास्तव, घनश्याम शुक्ला , प्रदीप कुमार, मनोज यादव, मुस्तन शेरुल्लाह , सुरेंद्र कुमार प्रजापति, राकेश कुमार, राम नरायन,मनी राम, लाल बहादुर राधेश्याम, पृथ्वी पाल, कमलेश, परमात्मा प्रसाद,सुरेन्द्र गुप्ता, दिलीप उपाध्याय, अष्टभुजा, कन्हैया लाल, बजरंगी, संजू यादव, ओम प्रकाश, राजेंद्र कुमार ,आलोक कुमार ,धीरेंद्र चौरसिया आदि लोग मौजूद रहे।

तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया की तहसील क्षेत्र के गांव में पच्चीस हजार से अधिक संख्या में प्रवासी मजदूर पहुंच चुके हैं।क्वारन्टीन सेन्टर पर सभी का कोरोना जांच थर्मल स्क्रीनिंग करा कर उन्हें जरूरी सलाह देते हुए होम क्वारन्टीन के लिए घर भेजा जा रहा है।निगरानी समिति बाहर से आये लोगों की निगरानी कर रही है। एकत्रित डाटा का सत्यापन शिक्षकों के माध्यम से कराया जा रहा है। डाटा सत्यापन उपरांत शासन की मंशा अनुरूप उन्हें आवश्यक सुविधाएं और प्रोत्साहन उपलब्ध कराई जाएगी।

फ़ोटो- खंड विकास अधिकारी कार्यालय परिसर में दूसरे शहरों से आए हुए प्रवासी मजदूरों के डाटा सत्यापन का कार्य करते हुए शिक्षक व शिक्षामित्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here