राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय सम्मान पत्र से सम्मानित किए गए शोहरतगढ़ तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल, कोरोनो योद्धा के रूप में करते हैं सेवा, लोगों ने कहा शोहरतगढ़ का सौभाग्य कि तहसीलदार के रूप में ऐसे मिले कोरोना योद्धा

0
626

श्रवण कुमार पटवा की रिपोर्ट
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

तहसीलदार राजेश अग्रवाल को मिला राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय अवार्ड मिला। उनकी मानव सेवा, निष्ठा, लगन, कर्तव्य परायणता, लीडरशिप की बदौलत कोविड-19 के प्रति लगातार 60 दिनों का उत्कृष्ट योगदान को अंतरराष्ट्रीय देश फिलीपींस की संस्था लीड (लीडरशिप इन एजुकेशन एकेडमी एंड डेवलपमेंटल) व
भारत की राजधानी दिल्ली की संस्था AIIPPHS (ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट आफ पब्लिक एंड फिजिकल हेल्थ साइंस ने अच्छे कार्यों को लेकर सम्मानित किया व कोरोना योद्धा के रूप में पहचान दी है।

वैसे यह पहचान कोई नया नही है इसके पूर्व भी उन्हें कई सम्मान प्राप्त हो चुका है। जानकारी के अनुसार मुंबई से आने वाली अंतिम ट्रेन पनवेल्ला एक्सप्रेस बढ़नी जंक्शन पर आने पर जिलाधिकारी दीपक मीणा जी के निर्देश पर इन्होंने पूरी रात मेहनत कर शोहरतगढ़, इटवा, बलरामपुर, डुमरियागंज, बांसी आदि के 1347 प्रवासियों को मेडिकल टीम की सहायता से स्क्रीनिंग कराकर अपने अपने घरों को भेज दिया था, तब से लगातार लगभग 35 ग्रामीण सेंटर,9 इंस्टिट्यूशनल सेंटर तथा शोहरतगढ़ के सेठ रामकुमार खेतान इंटर कॉलेज में बने क्वॉरेंटाइन व स्क्रीनिंग सेंटर में लगभग 27000 से अधिक मजदूरो को योगा क्लास, ऑन लाइन एजुकेशन क्लास कराकर होम क्वॉरेंटाइन करा चुके है।

रात्रि में झांसी, ललितपुर, दिल्ली से प्रवासियों को लेकर आने पर ड्राइवर व कंडेक्टर को सम्मान के साथ कुर्सी देना व उनके लिए मिनरल वाटर, बिस्कुट व ताजा भोजन देना भी लोगों के बीच चर्चा का विषय बना रहा।

फ़ाइल फ़ोटो- तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल

इन्होंने क्षेत्र के कई क्वॉरेंटाइन सेंटर मुडिला बुजुर्ग, छतहरी, बुधनाइया-पकड़ी, महमुदवा ग्रांट, अतरी, बालिका राजकीय विद्यालय धन गढ़िया, पं.बाबूराम शुक्ल विद्या मन्दिर इण्टर कालेज, तुलसियापुर, गांधी आदर्श इंटर कॉलेज,बढ़नी बाजार आदि में इनके द्वारा कोरोना महामारी के बचाव के बारे में जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया जिसे पूरे जिले के लोगो ने सराहना की।

फ़ाइल फ़ोटो- तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल

इनकी अगुवाई में मुडिला डीह ग्राम में भूख से परेशान 45 परिवारों को दो दो बार भरपूर खाद्यान्न दिया गया। इसके साथ ही पीलीभीत जनपद के 46 परिवार के लोग जब नेपाल राष्ट्र में 3 महीनों से भूख प्यास से तड़प कर शोहरतगढ़ की सीमा में ग्राम अरी में प्रवेश कर एक बगीचे में रात्रि में भूखे प्यास व्याकुल थे, तब तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल को सूचना मिलने पर सभी के लिए ताजा भोजन, मिनरल वाटर, बच्चों के लिए विस्कीट, चिप्स की व्यवस्था की तथा जिला मजिस्ट्रेट दीपक मीणा जी का आदेश लेकर बस की व्यवस्था कर रात्रि के भोजन पानी की व्यवस्था कर उन्हें पीलीभीत जनपद के अलियापुर ग्राम भेजने का ऐतिहासिक कार्य किया।

फ़ाइल फ़ोटो- तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल

इसी लॉक डाउन में तहसीलदार शोहरतगढ़ द्वारा नेपाल में फसे कई लोग जिनको नेपाल के डॉक्टर ने जबाब दे दिया, लखनऊ के वेदांता हॉस्पिटल से वार्ता करके उनकी जान बचाने का भी अनूठा प्रयास किया।

तहसीलदार राजेश अग्रवाल द्वारा तीनो थाना क्षेत्र के सभी पुलिस कर्मी, सभी सफाईकर्मी, सभी लेखपालो का ख्याल करते है बाणगंगा शोहरतगढ़ पुलिस पिकेट, छतहरी, ढेबरुआ, बढ़नी में सेवा दे रहे कर्मियों को, सभी डॉक्टरों का ख्याल, व उन्हें आते जाते पानी विस्कीट, खाना भी उपलब्ध कराते है।

तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल की कार्य करने की अद्भुत शैली पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, जनपद के प्रभारी मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, लोकप्रिय सांसद जगदम्बिका पाल, विधायक शोहरतगढ़ चौधरी अमर सिंह, शोहरतगढ़ चेयरमैन श्रीमती बबिता कसौधन ने कोरोना योद्धा के रूप में सम्मानित किया, कई पत्रकारों ने तो कोरोना जनरल तक कि संज्ञा दी है।

फ़ाइल फ़ोटो- तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल

पड़ोसी देश नेपाल राष्ट्र के सांसद अभिषेख साह ने भी इन्हें लॉक डाउन के बाद सम्मानित करने का निर्णय लिया है, सीमेंट फैक्ट्री नेपाल के मालिक विजय केडिया ने कहा कि उनकी जिंदगी करोड़ो रूपये से नही बच पाती लेकिन लॉक डाउन के दौरान रात्रि 1 बजे उनकी की गई 2 घंटे की मानवीय सहायता ने मेरी जिंदगी बचा दी, उत्तर प्रदेश के ऐसे कर्मठ अधिकारी को मेरा पूरा परिवार जीवन भर आभारी रहेगा।

फ़ाइल फ़ोटो- तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल

लॉक डाउन से पहले भी इन्होंने बाणगंगा, अंसारी हॉस्पिटल के पास एक्सीडेंट से तडपते कई लोगो की जान बचाकर मानवीय सम्बेदना व सहानभूति की अनूठी मिसाल शोहरतगढ़ की जनता के सामने पेश की है।

फ़ाइल फ़ोटो- तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल

लॉक डाउन के शुरू होने के दौरान ही शोहरतगढ़ तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल कोरोना योद्धा के रूप में अपनी सेवा दे रहे हैं वह चाहे सामुदायिक किचन सेंटर सेंटर में भोजन वितरण हो अथवा क्वॉरेंटाइन सेंटर में लोगों को आवश्यक वस्तुओं को उपलब्ध कराना, कोरोना वायरस व लॉक डाउन के बीच क्वॉरेंटाइन सेंटर में उन्होंने योगा की शुरुआत की ताकि उनके संदिग्ध मरीजों के अंदर सकारात्मक सोच को जन्म दिया जा सके। उनके द्वारा समय-समय पर क्वॉरेंटाइन सेंटर में वितरण होने वाले भोजन वितरण होने वाले भोजन वितरण होने वाले भोजन की गुणवत्ता की भी जांच की गई ताकि लोगों को गुणवत्ता युक्त भोजन मिल सके।