देश में मजदूरों के अलावा अवैतनिक, गरीब, मध्यम वर्ग, फुटपाथिया व्यापारी, हॉकर, पत्रकार व वकील भी रहते हैं सरकार। —-आर के पाण्डेय।

0
155

मजदूरों की समस्या का निराकरण करें लेकिन आम जनमानस को न भूलें

पर्दाफाश न्यूज टीम। अवैतनिक, गरीब, मध्यम वर्ग, फुटपाथिया व्यापारी, हॉकर, पत्रकार व वकील को भूलना अनुचित। —आर के पाण्डेय।नैनी, प्रयागराज, 25 मई 2020। आज कोरोना संकट काल मे हर तरफ मजदूरों की आवाज उठ रही है लेकिन अवैतनिक, गरीब, मध्यम वर्ग, फुटपाथिया व्यापारी, हॉकर, पत्रकार व वकीलों को भूलना निहायत ही अनुचित है।
जानकारी के अनुसार आज मीडिया से वार्ता करते हुए हाई कोर्ट के अधिवक्ता समाजसेवी आर के पाण्डेय ने उपरोक्त बातें कहीं। उनके अनुसार सरकार व सभी राजनैतिक दल एक स्वर से केवल मजदूरों की बातें कर रहे हैं जबकि देश में अन्य जरूरतमंद लोग भी रहते हैं। आर के पाण्डेय ने कहा कि सभी संगठनों, दलों, नेताओं व सरकार का विगत 62 दिन से केवल मजदूरों की बात की जा रही है जबकि देश मे आज सबसे अधिक प्रत्येक अवैतनिक, गरीब, मध्यम वर्ग, फुटपाथिया व्यापारी, हॉकर, पत्रकार व वकील परेशान हैं। इन सबके आय का अभी कोई साधन नही है। वे भुखमरी के कगार पर हैं परन्तु आश्चर्य है कि इनके तरफ किसी का ध्यान नही गया है जोकि राजनैतिक दलों व सरकार की अदूरदर्शिता प्रकट करती है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि वह जल्द ही इन जरूरतमन्दों के लिए योजना बनाकर कार्य करे अन्यथा देश मे भयावह स्थिति पैदा होगी जिसे सम्हालना सरकार के बस की बात नही होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here