गरीबों के खाद्यान्न पर डाका डालने वाला दबंग कोटेदार के विरुद्ध अधिकारियों ने चिल्हिया थाने में दर्ज कराया 3/7 का मुकदमा, विक्रेता पात्र गृहस्थी/अन्त्योदय कार्ड धारकों को कम देता था राशन, पूर्ति निरीक्षक ने की थी जाँच, शोहरतगढ़ ब्लॉक के दहियाड़ (लौसा) का है मामला

0
228

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

विकास खंड शोहरतगढ़ के ग्राम सभा दहीयाड टोला लौसा गांव के कोटेदार धनराज गुप्ता द्वारा बीते 15-16 मई को 56 अंत्योदय कार्ड धारकों व 282 पात्रगृहस्ती कार्ड धारकों में राशन दिया था। जिसमे कार्ड धारकों को यूनिट के मानक के हिसाब से कम राशन दिया था। इसका ग्रामीणों ने विरोध किया।

बुधवार मध्य रात्रि में ग्रामीणों देखा कि कोटेदार राशन को बेचकर पिकप पर लदा कर भेज रहा है। तभी ग्रामीण वहा पहुच गये और जम कर विरोध किया। और मोबाइल से वीडियो बना कर एसडीएम व हेल्पलाइन नम्बर ग्रामीणों ने शिकायत किया। मामले को संज्ञान लेते हुए शोहरतगढ़ एसडीएम अनिल कुमार टीम बनाकर जाच के लिए आदेश दिया। वृहस्पतिवार दोपहर में जाच टीम सप्लाई स्पेक्टर सन्तोष दुबे शोहरतगढ़, आपूर्ति निरीक्षक राजेश्वर प्रसाद, व अमरनाथ पाण्डेय लौसा गांव में पहुँचकर उर्मिला, शान्ती, बिंद्रावती, तीर्था, बासमती, रीता, उर्मिला, रमनयादव, दीपक, रामदीन आदि कार्ड धारकों से एक एक करके जाँच किया जिसमें राशन वितरण में यूनिट से कम राशन, एक मई में राशन विरतण में सभी कार्ड धारकों से पैसा लेने की बात जाँच अधिकारियों के समक्ष कार्ड धारकों से वार्ता में सामने आयी। जांच के दौरान अधिकारियों ने कोटेदार के खिलाफ करवाई करने का ग्रामीणों को आश्वाशन दिया। जिस क्रम में 22 मई 2020 यानी शुक्रवार की रात्रि तक चिल्हिया थाने में मुकदमा पंजीकृत करने के लिए आदेश दे दिया गया।

विदित हो कि दिनांक 21 मार्च 2020 को पुनः क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी पूर्ति निरीक्षक बढ़नी एवं पूर्ति निरीक्षक शोहरतगढ़ द्वारा मौके पर जाकर प्रकरण की विस्तृत जांच की गई। जांच के समय सील कमरे को ग्राम वासियों रविंद्र पुत्र घिसियावन, आदि तथा विक्रेता की उपस्थिति में खोला गया। कमरे में 28 बोरी चावल जिसकी सिलाई हाथ से की हुई थी पाया गया। सभी बोरो का वजन लगभग 60 किलोग्राम का होना पाया गया। मौके पर बताया गया कि प्रत्येक कार्ड धारकों से 2 से 3 किलोग्राम खाद्यान्न कम दिया जाता है। आदि भारी अनियमितता पाई गई।

उन्होंने यह भी लिखा कि उचित दर विक्रेता द्वारा पात्र गृहस्थी एवं अंत्योदय कार्ड धारको को मानक से कम खाद्यान्न का वितरण किया गया है तथा वितरण में कम दिए गए चावल को एकत्र कर उसे विक्रेता द्वारा बड़े बोरे में भरकर बेचने हेतु रखा गया था इस प्रकार जांच में पाया गया कि विक्रेता द्वारा पात्र गृहस्थी/अन्त्योदय कार्ड धारकों को मानक से कम खाद्यान्न का वितरण किया गया है तथा विक्रेता की दुकान में 1.77 कुंटल गेहूं का स्टॉक कम पाया गया। इसी प्रकार 7.37 कुंतल चावल का स्टाक विक्रेता के दुकान में वितरण के अनुसार अधिक पाया गया, जो कि दंडनीय अपराध है। अतएव धर्मराज गुप्ता उचित दर विक्रेता, ग्राम पंचायत दहियाड़, विकास खण्ड शोहरतगढ़ के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3/7 के अंतर्गत प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराए जाने की संस्तुति की जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here