गरीबों के खाद्यान्न पर डाका डालने वाला कोटेदार को ग्रामीणों ने पकड़ा, गरीबों का खाद्यान्न बाज़ार बेचने की फिराक में था कोटेदार, ग्रामीणों ने प्रकरण की बनाई बीडीओ, डी०एम०, डी०एस०ओ०, एस०डी०एम०, पूर्ति निरीक्षक को घटना की दी पूरी जानकारी, शोहरतगढ़ ब्लॉक के दहियाड़ (लौसा) का है मामला

0
179

अतुल कुमार शुक्ला की रिपोर्ट
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

यूं तो लॉक डाउन और कोरोनावायरस को देखते हुए प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ जी की सरकार ने गरीबों व असहाय लोगों (अन्त्योदय व पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों) के जीवन यापन के लिए 3 महीने के लिए नि:शुल्क खाद्यान्न की व्यवस्था की है और बितरण में किसी प्रकार की समस्या ना आए इसलिए उनकी मॉनिटरिंग भी की जा रही है। लेकिन उसका क्या कहा जाए कि मॉनिटरिंग होने के बाद भी दबंग व मनबढ़ बेईमान कोटेदार गरीबों के खाद्यान्न पर डाका डालने से बाज नहीं आ रहे हैं।

विकास खंड शोहरतगढ़ के ग्राम सभा दहीयाड टोला लौसा गांव का कोटेदार धनराज गुप्ता द्वारा 15 ,16 त0 में अंत्योदय कार्ड धारी 56 पात्रगृहस्ती 282 कार्ड धारकों में राशन दिया था। जिसमे कार्ड धारकों को यूनिट के मानक के हिसाब से कम राशन दिया था। इसका ग्रामीणों ने विरोध किया। बुधवार मध्य रात्रि में ग्रामीणों देखा कि कोटेदार राशन को बेचकर पिकप पर लदा कर भेज रहा है। तभी ग्रामीण वहा पहुच गये और जम कर विरोध किया। और मोबाइल से वीडियो बना कर एसडीएम व हेल्पलाइन नम्बर ग्रामीणों ने शिकायत किया। मामले को संज्ञान लेते हुए शोहरतगढ़ एसडीएम अनिल कुमार टीम बनाकर जाच के लिए आदेश दिया।

वृहस्पतिवार दोपहर में जाच टीम सप्लाई स्पेक्टर सन्तोष दुबे शोहरतगढ़, आपूर्ति निरीक्षक राजेश्वर प्रसाद, व अमरनाथ पाण्डेय लौसा गांव में पहुँचकर उर्मिला, शान्ती, बिंद्रावती, तीर्था, बासमती, रीता, उर्मिला, रमनयादव, दीपक, रामदीन आदि कार्ड धारकों से एक एक करके जाँच किया जिसमें राशन वितरण में यूनिट से कम राशन, एक मई में राशन विरतण में सभी कार्ड धारकों से पैसा लेने की बात जाँच अधिकारियों के समक्ष कार्ड धारकों से वार्ता में सामने आयी। जांच के दौरान अधिकारियों ने कोटेदार के खिलाफ करवाई करने का ग्रामीणों को आश्वाशन दिया।

बहरहाल जिम्मेदार अधिकारियों ने ग्रामीणों का बयान नोट कर लिया है अब देखना यह है कि बयान के आधार पर जिम्मेदार विभाग कोटेदार के विरुद्ध कौन सी कार्रवाई कब तक करेगा?

इस सबन्ध में सप्लाई स्पेक्टर सन्तोष दुबे ने बताया कि जो ग्रामीण द्वारा कोटेदार के खिलाफ शिकायत किया था वह जाँच में सभी आरोप सही पाया गया है। कोटेदार के खिलाफ करवाई की जाएगी।

वही कोटेदार धनराज गुप्ता ने कहा कि ग्रामीणों ने जो राशन कम देना, पैसे लेकर राशन व राशन बेचने में शिकायत किया गया। कुछ लोगो ने मेरे खिलाफ साजिश किया। सभी आरोप गलत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here