खबर का अधिकारियों पर असर लेकिन दबंग कोटेदार पर बेअसर

0
142

खबर का अधिकारियों पर असर पर दबंग कोटेदार पर बेअसर

पर्दाफाश न्यूज टीम। कोटे की दुकान खुली परन्तु कोटेदार, नोडल अफसर व प्रशासन गायब
—बिना राशन कार्ड धारक वापस लौटने को मजबूर।
—दिन में 70% लेकिन अगले दिन बिना राशन वितरित किये 90% वितरण का रहस्यमयी दावा। लनैनी, प्रयागराज, 20 मई 2020। प्रयागराज के नैनी स्थित पीडीए कालोनी के काशीराम आवास के दबंग कोटेदार के आगे प्रशासन नतमस्तक है लिहाजा गरीब मजबूर कार्ड धारक बिना राशन के वापस लौटने को मजबूर हैं।
जानकारी के अनुसार इसी कोटेदार की शिकायत सम्बन्धी ख़बरों के प्रकाशन के बाद अधिकारी जागरूक नजर आए परन्तु दबंग कोटेदार पर कोई प्रभाव नही दिखा। आज सप्लाई इंस्पेक्टर ने स्वयं फोन करके स्थिति का जायजा लिया व शिकायतों के निस्तारण का विश्वास दिलाया व कोटे की दुकान भी खुलवा दी लेकिन दबंग कोटेदार दुकान को मात्र एक आपरेटर के सहारे छोड़कर नोडल अफसर व प्रशासन सहित गायब मिला जिससे यहां आने वाले मजबूर गरीब बिना राशन पाए ही अपने घर वापस जाने को मजबूर दिखे। यहां मशीन अव्यवस्थित थी जबकि सैनिटाइजर, साबुन व पानी की कोई व्यवस्था थी ही नही। इस बीच एक बड़ी चौंकाने वाली बात सामने आई जिसके अनुसार कल यह कोटा बन्द होने के बावजूद डीएसओ आफिस व ऑपरेटर द्वारा 70% जबकि आज बिना राशन बंटे सुबह साढ़े नौ बजे आपरेटर द्वारा 90% सप्लाई बताया गया जिसकी पुष्टि फोन पर कोटेदार ने भी की है तो बिना राशन बंटे रातोरात 20% की वॄद्धि कैसे हो गई? इस बावत कार्ड धारकों का कहना है कि अक्सर अंगूठा लगवाकर भी कोटेदार राशन ही नही देता है। फिलहाल स्थानीय कार्डधारकों में इस कोटेदार के प्रति भारी आक्रोश व्याप्त है तथा लोगों ने विगत इस कोटेदार के क्रिया कलाप व इसके फोन रिकॉर्ड का विगत एक वर्ष का निष्पक्ष जांच कराने व इसके लाई डिटेक्टर टेस्ट की मांग की है। यक्ष सवाल तो यह है कि गरीबों व मजदूरों के संदर्भ में बड़े दावे करने वाली सरकार व प्रशासन इस कोटेदार पर अंकुश लगा पाने में नाकाम क्यों है?
उधर इसी पीडीए कालोनी नैनी के अन्य कोटेदारों की दुकानें भी आज चालान जमा करने के नाम पर बन्द रहीं जबकि उनके दुकान पर इस बावत कोई नोटिस चस्पा नही थी जबकि कार्ड धारकों को राशन के लिए सुबह से ही इंतजार करते देखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here