लॉकडाउन के बीच B.R.C. शोहरतगढ़ के दर्जनों विद्यालयी बच्चों को ई-पाठशाला के माध्यम से दी जा रही शिक्षा

0
220

मुस्तन शेरूल्लाह की रिपोर्ट
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

कोविड-19 कोरोना वायरस महामारी की वजह से लॉक डाउन के चलते विद्यालयों में भी ताला लगा हुआ है। परिवार के साथ स्कूली बच्चे भी लाक डाउन का पालन करते हुए कोरोना बीमारी से बचने के लिए घरों पर ही रह रहे हैं। ऐसे में स्कूली बच्चों के पढ़ाई का नुकसान न हो सरकार की ओर से शिक्षकों के माध्यम से लॉक डाउन के बीच ई पाठशाला को चलाकर ज्ञान के विभिन्न पहलुओं को बच्चों के बीच पहुंचाने की हिदायत दी गई।

विकास क्षेत्र शोहरतगढ़ के प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय लेदवा समेत दर्जनों विद्यालयों में ई पाठशाला कार्यक्रम को अपनाकर बच्चों को गणित, विज्ञान हिंदी ,अंग्रेजी व सामाजिक विषय का ज्ञान व्हाट्सएप मोबाइल पर स्कूली बच्चों का ग्रुप बनाकर पहुंचाने का कार्य शिक्षक कर रहे हैं। क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय गड़ाकुल, सेहरिया, महथा, बैदौला व पूर्व माध्यमिक विद्यालय लेदवा, सिकटीहवा , रमवापुर नानकार, नियाव नानकार और गौराबाजार आदि विद्यालय के शिक्षकों द्वारा कई दिनों से ई-पाठशाला ग्रुप का सृजन कर बच्चों को लाभान्वित करने का प्रयास किया जा रहा है। शिक्षकों द्वारा बच्चों को सरकार की ओर से व अन्य स्रोतों से प्राप्त शैक्षणिक गतिविधियों को बच्चों तक हर रोज ज्ञान भण्डार पहुंचाने का प्रयास कारगर साबित होने लगा है। बच्चे अपने गुरुजनों द्वारा दिए गए होमवर्क को पूर्ण कर उसका जवाब ग्रुप पर ही शिक्षकों तक पहुंचाने का कार्य भी कर रहे हैं, जिसे ग्रुप संचालक शिक्षक बच्चों के कार्यों का मूल्यांकन करते हुए उन्हें गलती सुधारने व अन्य निर्देशों का पालन करने के बारे में जानकारी देते हैं ।

खंड शिक्षा अधिकारी अभिमन्यु व ब्लॉक ए आर पी मुस्तन शेरुल्लाह द्वारा विकास क्षेत्र के प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत सभी शिक्षकों को ई-पाठशाला संचालन के लिए स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों व अभिभावकों के मोबाइल नंबर व्हाट्सएप ग्रुप का क्रियान्वयन कराने का पहल किया जा रहा है, ताकि अधिक से अधिक बच्चे ई पाठशाला से लाभान्वित हो सकें। शनिवार को डी डी यू पी और यूट्यूब चैनल के प्रसारण माध्यम से प्राप्त शिक्षण गतिविधि को शिक्षकों द्वारा ई पाठशाला व्हाट्सऐप ग्रुप के जरिए से बच्चे गणित विषय के अंतर्गत गिनती का ज्ञान हासिल किये और हर रोज कुछ न कुछ ज्ञान ग्रुप के माध्यम से सीख रहे हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here