ग्राम प्रधान संगठन के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश शर्मा ने उ०प्र० सरकार के पंचायतीराज मंत्री जी को लिखा पत्र, सिद्धार्थनगर जनपद के बढ़नी ब्लॉक के परसा स्टेशन के ग्राम प्रधान रामचन्द्र शुक्ला ने प्रदेश अध्यक्ष के निर्णय का किया स्वागत

0
341

पर्दाफाश न्यूज़ टीम
सिद्धार्थनगर

राष्ट्रीय पंचायतीराज ग्राम प्रधान संगठन के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश शर्मा ने उ०प्र० सरकार के पंचायतीराज मंत्री जी को पत्र लिखा, जिसका स्वागत करते हुए जनपद के बढ़नी ब्लॉक के परसा स्टेशन के ग्राम प्रधान रामचन्द्र शुक्ला ने प्रदेश अध्यक्ष के निर्णय का स्वागत किया है। बढ़नी ब्लॉक के परसा स्टेशन के ग्राम प्रधान रामचन्द्र शुक्ला ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष सुरेश शर्मा ने लिखा कि,- इस समय कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार द्वारा और प्रशासन द्वारा जितनी भी जिम्मेदारियां हमारे प्रधान साथियों को दी जा रही है उस जिम्मेदारी को हमारे सभी प्रधान साथी बखूबी जिम्मेदारी से निभा रहे हैं और सरकार और प्रशासन के साथ बराबर हाथ बटा रहे हैं और उनके आदेशों का पालन कर रहे हैं, लेकिन सरकार प्रधान साथियों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है क्योंकि सरकार और प्रशासन जो प्रधानों को आदेश दे रहे है प्रधान उसका पालन कर रहे हैं यहां तक जो लोग मुंबई दिल्ली या अन्य प्रदेशों से आ रहे हैं उनकी भी जिम्मेदारी प्रधान लोगों को मिली है । उनकी सारी व्यवस्था प्रधान साथी कर रहे है उनके बीच रहकर अपनी जिम्मेदारी निभा रहे है, अगर कभी खुदा ना खासता कहीं कोई प्रधान साथी इस रोग की चपेट में आ जाता है तो उसका जिम्मेदार कौन होगा, मैं यह बात इसलिए कह रहा हूं कि जितने भी कर्मचारी इस बीमारी की रोकथाम के लिए लगाए गए हैं उन कर्मचारियों को सरकार द्वारा 50 लाख का बीमा किया गया है जब हम सभी प्रधान साथी इस कार्य में लगे हैं तो सरकार हमको इस बीमे से क्यों वंचित रखा है यहां तक देखा गया है कि जो गांव की आशा है एक दरवाजे से दूसरे दरवाजे पर नहीं जा रही हैं, उनका भी 50 लाख का बीमा किया गया है जबकि हम प्रधान साथी संगठन के आवाह्न पर अपना एक माह का मानदेय भी सरकार को करोना से लड़ने हेतु दें रहें हैं और दिन रात एक कर के गांव में घर घर जाकर इस बीमारी से बचने के उपाय के बारे में जानकारी दे रहे हैं और गांव में मशीन द्वारा सैनिटाइज करा रहे है, मशीन द्वारा फागिंग भी करा रहे है फिर सरकार का ध्यान हम प्रधान साथियों पर क्यों नहीं पड़ा रहा है कृपया मैं आपका ध्यान आकर्षित करना चाहता हूं कि आप प्रधान साथियों का भी 50 लाख का बीमा कराने का कष्ट करें आपकी अति कृपा होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here