जब मनुष्य, मानवता की निर्मम हत्या करे तो उसे क्या कहे- साथ ही कहा जिला अस्पताल में मरीजों के परिजनों द्वारा हो रही वसूली- देवेश मणि त्रिपाठी (आर.टी.आई. एक्टिविस्ट)

0
170

पर्दाफाश न्यूज़ टीम
सिद्धार्थनगर

जनपद में मानवता की निर्मम हत्या को लेकर आरटीआई एक्टिविस्ट देवेश मणि त्रिपाठी ने सोसल मीडिया पर सार्वजनिक रूप से कहा कि,-
कहते है डॉक्टर भगवान होता है, यह सही भी है जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण वर्तमान समय मे आपके सामने है। अपनी जान की परवाह किये बिना दिन रात सेवाएं दे रहे स्वास्थ्य कर्मियों का हृदय से आभार व्यक्त करते है। परंतु कुछ डॉक्टर इस हद तक गिर गए है जिनके लिए किस शब्द का प्रयोग करे समझ से परे है। जिला चिकित्सल्य में मरीजो को लेकर जाना होता रहता है। आज दोपहर एक महिला का रोते हुए फ़ोन आया जिसका बच्चा SNCU में भर्ती है । पहुचने पर पता चला कि उसके पास एक भी पैसा नही है और उससे जांच कराने के लिए 1200 की मांग की गई। जब पता किया तो ज्ञात हुआ कि दो दिन पूर्व डॉक्टर महोदय द्वारा वह जांचे बाहर से लिखी गई थी। खैर जब बाहर निकलकर पता किया तो पता चला कि एक परिजन से जांच के नाम पर 500, एक से 1000 , एक से 900 तथा एक से 1200 रुपये लिया गया । चूँकि परिजनों द्वारा यह उठाया गया है तो इसकी जांच जरूर होनी चाहिए कि जो जांच बाहर से कराए गए वो जिला चिकित्सालय में उपलब्ध है या नही।
सवाल उठता है क्या हमारे जिला चिकित्सल्य में उक्त जांच की व्यवस्था नही है, यदि नही तो सरकार के द्वारा लिखे गए *सभी जांच एवं दवाएं निशुल्क* को तत्काल मिटा देना चाहिए। और यदि है तो वह डॉक्टर महोदय को किस शब्द से संबोधन करे जो इस विषम परिस्थिति में भी कुछ कमीशन के लिए गरीब अशहाय जनता का खून चूस रहे है।
जिला चिकित्सल्य प्रशासन से विनम्रतापूर्वक अनुरोध है कि इस प्रकार के क्रिया कलापो पर तत्काल विराम लगवाए एवं धड़ले से SNCU एवं PICU में हो रहे इस कृत्य का स्वतः संज्ञान लेकर जांच करते हुए दोषियों पर तत्काल उचीत कार्यवाही करे। अन्यथा हम लोगो की मजबूरी होगी कि इस प्रकरण में लीगल तरीके से अपने अधिकारों का प्रयोग कर अभिलेख प्राप्त कर इस अनैतिक कृत्य को रोके। क्योकि किसी भी अशहाय, गरीब का शोषण हमे बर्दास्त नही है और हमे आशा है कि भविष्य में इस प्रकार किसी गरीब, अशहाय का शोषण जांच व दवा के नाम पर जिला चिकित्सल्य में नही होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here