क्या ढेबरुआ थानाक्षेत्र में खाकी का असर कम, लॉकडाउन आदेश के बावजूद चौराहों पर एवं गांवो में घूम रहे है लोग, कैसे लगेगा मनबढ़ई पर अंकुश?

0
397

पर्दाफाश न्यूज़ टीम
बढ़नी, सिद्धार्थनगर

कोरोना वायरस (COVID-19) के बढते कहर को देखते हुए भले ही पूरे देश मे प्रधानमंत्री ने जनता की भलाई के लिए लाक डाउन कर दिया गया है। लाक डाउन होने वावजूद भी कोरोना पीड़ितों की संख्या लगातार बढती जा रही है, तो वहीं दूसरी तरफ ढ़ेबारुआ थाना क्षेत्र के ढेकहरी बुजुर्ग में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो विना काम के चौराहे पर घूमते नज़र आ रहे हैं ऐसे में पुलिस प्रशासन भी घूमते मिले लोगों पर कही शख्ती तो कही नरमी से पेश आ रही है। वावजूद लोग अपने आदत से बाज नहीं आ रहे हैं। जब तक पुलिस वहां रहती है, पुलिसिया असर रहता है लेकिन पुलिस के जाने के बाद कहानी जस की तस हो जाती है जैसे लगता है लॉक डाउन का आदेश ताख पर है।


बताते चले कि लॉकडाउन में भी ग्रामीण क्षेत्रो के लोग घरों में नही रुक रहे है। लोग चौराहों पर जा रहे है तो बच्चे क्रिकेट अन्य लोग गांवो में तास खेल रहे है । जबकि प्रशासन द्वारा गठित टीमें भी लगातार गांवो में जाकर लोगो को समझा रही है लोगो को घरों में रहने की अपील की जा रही है ।

इसके बाद भी लोगो में जानलेवा बन चुकी है, इस बीमारी को लेकर लोगो मे भय नही है। कठेला कोठी व कठेला चौराहे पर लोग घूमते नजर आ रहे है, यहाँ कई दुकान जैसे मोबाइल शॉप,जूता-चप्पल, कपड़ा का दुकान, पान का ढाबा,आदि खुले नजर आ रहे है सूत्रों से पता चला है कि सैकड़ो लोग बाहर से आये है ,जिनका अभी तक स्क्रीनिंग नही हुआ है उसके बाद भी लोग खुलेआम चौराहे पर घूमते नजर आ रहे है जबकि शासन का शक्त निर्देश है कि 14 अप्रैल तक लॉकडाउन का पालन करे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here