लाक डाउन आदेश ताख पर रख करते है चकल्लस, इन्हें न प्रशासन का डर है न जान का खतरा, बढ़नी ब्लॉक के कई गाँवो में क्रिकेट मैच खेलकर मनचले संक्रमण को दे रहे है दावत

0
323

निजामुद्दीन सिद्दीकी की रिपोर्ट
बढ़नी, सिद्धार्थनगर

21 दिन लाक डाउन आदेश के तीसरे दिन आदर्श नगर पंचायत बढ़नी में लगभग सभी जगह सन्नाटा पसरा हुआ है, यहां तक की कुछ किराने की दुकान, सब्जी, मेडिकल, हॉस्पिटल, बैंक जैसी कुछ विशेष सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें बंद पाई गई वास्तव मे यह माहोल देख कर लग रहा था की आज पूरा देश ऐसी परेशानी मे फस गया है की लोगो को अपने ही घरों मे कैदी की तरह रहना पड़ रहा है।

लेकिन यह भ्रम आदर्श नगर बढ़नी के वार्ड न• 7 बढ़नी खास मे जाकर टूट जाता है। वहा पर माहौल के हिसाब ऐसा लगता है कि जैसे ये लोग दूसरी दुनिया के रहने वाले हैँ इन्हें ना अपने बचाव की पड़ी है ना ही देश की, बस ये लोग खुद ही अपने आपको प्रधानमंत्री समझते हैँ और अपना कानून पालन करते हैँ, वहीँ पुलिस चौकी प्रभारी महेश सिंह द्वारा गठित टीम गस्त करती रहती है लेकिन यह लोग पुलिस को आते देख भाग कर अपने अपने घरों मे घुस जाते हैँ और पुलिस के जाने के बाद फिर वही काम करते हैँ, वहीं ठेले पर सब्जी बेच रहे व्यक्ति के पास देखते ही देखते सब्जी की दुकान पर अधिक संख्या मे लोग सब्जी खरीदने पहुंच गए और भीड़ बढ़ती गयी, यहाँ पर किसी को अपने जान की कोई परवाह नहीं है और हा बात यहीं तक नहीं रुकी वहीँ ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी कम नहीं हैँ लॉकडाउन होने बाद लोग अपने घरों पर नहीं हैँ बल्कि क्रिकेट खेल रहें हैँ

मानो की इस बार टीम इंडिया को यही विश्व कप दिलाएंगे प्रशासन द्वारा बार बार सशक्त निर्देश दिए जाने के बावजूद भी मड़नी, दुधवनिया खुर्द, मुजहना, खजुरिया गर्वी बैरिया आदि कई ऐसे गावों में दर्जनों की संख्या में मनचले क्रिकेट खेलते हुए पाए गए, जिसमें से अधिकतर ने तो मास्क भी नहीं लगाया था और सबसे बड़ी चिंता की बात तो यह है की इनमें से कई ऐसे लोग क्रिकेट खेल रहें हैँ जो अभी कुछ दिनों पहले ही मुंबई, दिल्ली, गोवा आदि शहरों से लौटे हैं, इन सब मे लोगो की तो गलती है ही लेकिन कही ना कही ये पुलिस प्रशासन के भी लापरवाही को दर्शाता है, अगर प्रशासन ने ऐसे मनचले लोगो पर रोक नहीं लगाया तो आखिर मे इन सबका जिम्मेदार कौन होगा?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here