मजबूर व निरीह मजदूरों व बेरोजगारों को पुलिसिया लाठी से बचाकर सरकार उन्हें उनके घर सुरक्षित पहुंचाए। —आर के पाण्डेय एडवोकेट।

0
224

प्रयागराज न्यूज
मजबूर व निरीह मज़दूरों व बेरोजगारों को पुलिसिया लाठी नही बल्कि सुरक्षित उनके घर पहुंचाए सरकार। —आर के पाण्डेय एडवोकेट।

पर्दाफाश न्यूज टीम प्रयागराज
प्रयागराज, 27 मार्च 2020। एनजीओ परमेंदु वेलफेयर सोसाइटी के प्रबंधक आर के पाण्डेय एडवोकेट ने सरकार से मांग की है कि वह मज़दूरों व बेरोजगारों को पुलिसिया लाठी से बचाकर सुरक्षित उनके घर पहुंचाए।
जानकारी के अनुसार सोशल मीडिया व न्यूज चैनल्स पर वायरल खबरों के अनुसार कोरोना लॉक डाउन में फंसे दिल्ली आदि से लगभग 300 से 1200 किमी तक की दूरी तय करने के लिए पैदल चल पड़े मजबूर व निरीह मजदूरों व बेरोजगारों पर पुलिस लॉक डाउन उल्लंघन के नाम पर लाठियां बरसा रही है, मुर्गा बना रही है, देश का दुश्मन नामक लेबल के साथ उनका फोटो वायरल कर रही है व उन्हें घुटनों के बल चला रही है जोकि अमानवीय है। विचारणीय है कि कश्मीर के पत्थरबाजों व शाहीन बाग के आंदोलनकारियों की अपेक्षा क्या इनके कोई अधिकार नही हैं? आर के पाण्डेय एडवोकेट ने उत्तर प्रदेश के डीजीपी, सीएम, होम मिनिस्टर व पीएम को उनके पर्सनल ट्विटर पर लिखित निवेदन किया है कि इन मजबूर व निरीह मजदूरों व बेटोजगारों को पुलिसिया लाठी से बचाकर उनके घर सुरक्षित पहुंचाया जाए। इससे जहां वे अपने घर परिवार के साथ खुशहाल होंगे वहीं सरकार का भी बोझ कम होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here