कोरोना से बचाव हेतु स्वच्छता अनिवार्य

0
270

फतेहपुर खबर
कोरोना वायरस से बचने के लिए स्वच्छता बेहद जरूरी-खण्ड विकास अधिकारी गोपी नाथ पाठक

पर्दाफाश न्यूज टीम फतेहपुर
कोरोनो वायरस से डरने की नहीं बल्कि बचाव के लिए सावधानियां रखने की जरूरत है-
पत्रकार नागेश त्रिपाठी की रिपोर्ट।
फतेहपुर खण्ड विकास अधिकारी विजयीपुर ने कहा कि कोरोनो वायरस से डरने की नहीं बल्कि इससे बचाव के लिए कुछ सावधानियां रखने की जरूरत है। इस वायरस से घबराने की नहीं अपितू जागरूक होकर ऐहतियातन कुछ कदम उठाकर इसे फैलने से रोका जा सकता है। खण्ड विकास अधिकारी गोपी नाथ ने कहा कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए सरकार द्वारा कुछ कदम उठाये गये है और मास्क व सेनिटाइजर की कालाबाजारी करने पर सासन द्वारा रोक लगा दी गई है। उन्होंने कहा कि सेनिटाइजर और मास्क की जमाखोरी व कालाबाजारी की स्थिति में सम्बंधित व्यक्ति के खिलाफ नियमानुसार कड़ी कारवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि हाथों को साबुन के साथ अच्छी प्रकार से धोएं तथा जहां तक हो सके सेनिटाइजर का प्रयोग करें। उन्होने कहा कि दुकानदार व अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान के मालिक अपने यहां सेनिटाइजर की व्यवस्था रखें और जो भी व्यक्ति उनके पास सामान आदि लेने आते है, उन्हें भी वहां पर सामान देने से पूर्व सेनिटाइजर का प्रयोग करवाये और बताये कि इस वायरस से बचने के लिए स्वच्छता कितनी जरूरी है। देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मामले सामने आए हैं और यह पाया गया है कि यह वायरस किसी प्रकार के संक्रमित सतह को छूने से फैलता है। हालांकि यह वायरस फैलने का मुख्य कारण नहीं है, परंतु वायरस की संचरण क्षमता को ध्यान में रखते हुए इससे बचाव के तमाम उपाय अमल में लाना आवश्यक है। इसी क्रम में विकास खण्ड विजयीपुर के खण्ड विकास अधिकारी गोपी नाथ पाठक ने विजयीपुर के कई ग्राम पंचायत के प्रधानों द्वारा कोरोना से बचने के लिए पेपर आदि गांव गांव बटवाये गए साथ ही ब्लाक स्थित कई बैनर लगवा कर लोगो को जागरूप किया गया आम जन को ‘क्या करें व क्या न करें’ व उचित ढंग से हाथ कोरोना से सावधानी की जानकारी दी गई वीडियो ने कहा कि सरकार द्वारा आगामी 31 मार्च, 2020 तक सभी सिनेमा हॉल, स्कूल (परीक्षाओं को छोडक़र), जिम, स्वीमिंग पुल, नाईट क्लब बंद रखने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया है कि वे किसी भी प्रकार की अफवाह से न डरे और न ही किसी प्रकार की गल्त अफवाह फैलाये। कोरोना से बचाव के लिए क्या करें:- चिकित्सकों के अनुसार नियमित रूप से दिन में कई बार हाथों को साबुन एवं साफ पानी से धोंए, बिना हाथ धोंए अपनी आंख, मुहं एवं नाक को न छुएं। संक्रमित व्यक्ति के निकट आने से बचें । खाना खाने या फिर खाना खाने के बाद भी अपने हाथों की सफाई अवश्य करें। जिस व्यक्ति को खांसी, जुखाम हो उससे कम से कम एक से दो मीटर की दूरी अवश्य बनाए रखें। बेवजह हाथों को बार-बार मुंह या आंखों पर न लगाए। कोरोना वायरस से घबराने की जरूरत नहीं हैं, बल्कि सावधान रहने और ऐतिहात बरतने की जरूरत हैं। कोई भी व्यक्ति छोटे स्तर के जुखाम या खांसी को कोरोना समझकर घबराएं नहीं बल्कि बुनियादी स्तर पर पूरी सावधानी बरतें और अपने नजदीकी चिकित्सक के चैक करवाएं और यदि किसी विदेशी पयर्टक के सम्पर्क में सम्बंधित आया हो, तो चिकित्सकों को तुरन्त परामर्श लें चूंकि प्रशासन द्वारा अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड स्थापित कर दिए गए हैं। कोरोना वायरस के लक्षण – नाक बहना, खांसी, गले में खराश, कभी-कभी सरदर्द और बुखार, जो कुछ दिनों तक रह सकता है कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों यानी जिनकी रोगों से लडऩे की ताकत कम है, ऐसे लोगों के लिए यह घातक है। बुजुर्ग और बच्चे इसके आसान शिकार हैं। कोरोना वायरस जानवरों के साथ मानव संपर्क से फैलता है। इस विषय के तहत तीव्र श्वसन रोग (बुखार, खांसी, सांस लेने में कठिनाई) एवं उपरोक्त में से सभी या कोई एक कारण भी हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here