स्वच्छता अभियान को लगा पलीता, सार्वजानिक शौचालय निर्माण के तात्कालिक बाद से ही पड़ा है ध्वस्त, पानी की टंकी भी हुई गायब, जिम्मेदारों से साधी चुप्पी

0
278

निजामुद्दीन सिद्दीकी की रिपोर्ट
बढ़नी, सिद्धार्थनगर

नगर पंचायत बढ़नी के वार्ड नं• 7 बढ़नी खास में बने सार्वजनिक शौचालय का प्रयोग हवा हवाई है। मिली जानकारी के अनुसार विधानसभा चुनाव के दौरान नगर पंचायत बढ़नी द्वारा तात्कालिक रूप से इस शौचालय का निर्माण जल्द बाजी में दिखावे के लिए करवा दिया गया था, जो चुनाव के बाद से ही ध्वस्त व बेकार पड़ा है, सार्वजानिक शौचालय में पानी की कोई सुविधा नहीं है शौचालय के ऊपर लगा पानी का टंकी गायब हो चुका है। आरोप है कि शौच के मलबे को एकत्र होने के लिए गड्ढा भी नहीं बना हैँ और शौचालय काफ़ी दिनों से बंद है।

कभी-कभार अगर शौचालय का प्रयोग किया भी जाता तो बहुत अधिक गन्दगी फैलती जिससे भ्रामक रूप से बीमारियां जन्म लेती, देखा जाये तो निर्माण के बाद से ही आम जनमानस द्वारा शौचालय का प्रयोग नहीं किया गया क्यूंकि इस में न पानी की व्यवस्था है न ही साफ सफाई की तो ऐसे सार्वजनिक शौचालय का निर्माण कराने से क्या फ़ायदा? जब जनता को खुले में ही शौच के लिए जाना पड़ता है, वही अगर हम देखे तो केंद्र सरकार द्वारा चलाया जा रहा विशेष योजना स्वच्छ भारत अभियान को देखे तो नगर पंचायत बढ़नी को “आदर्श” नगर पंचायत का ख़िताब मिल चुका है लेकिन वही बढ़नी के क़स्बा मुड़िला व अधिकांश सार्वजानिक शौचालय ध्वस्त पड़े हैँ जबकि स्वच्छता अभियान के इस मुहीम को सफल बनाने में शौचालय का प्रयोग सबसे ज्यादा जरुरी है।

जानकारों की माने तो गन्दगी व साफ सफाई ना होने से कोरोंना जैसे महामारी भी और तेजी से फ़ैल सकती है लेकिन अफ़सोस की बात ये है की शौचालय निर्माण के बाद से ही आदर्श नगर पंचायत बढ़नी को इसकी सुध नहीं आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here