तकनीकी खेती कर बेहतर उपज ले सकते हैं किसान- जफर आलम

0
248

अजीज अहमद की रिपोर्ट
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

विकासखंड के ग्राम पंचायत रमवापुर में हरित क्रांति योजना के तहत रबी किसान गोष्टी का आयोजन प्रधान संघ के जिला उपाध्यक्ष जफर आलम की अध्यक्षता में संपन्न हुई जिसमें किसानों को रवी की फसल की बेहतर तरीके से खेती करने के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। गोष्ठी को संबोधित करते हुए प्रधान संघ के जिला उपाध्यक्ष जफर आलम ने कहा कि रबी की खेती करना किसानों के लिए चुनौतीपूर्ण रहता है क्योंकि मौसम में खेती को कोहरे,बारिश और ओलों से जूझना पड़ता है जिससे खेती को प्रभावित होने का खतरा बना रहता है ऐसे में किसानों को खेती प्रभावित होने से बचाने के लिए तकनीकी खेती के प्रति जागरूक किये जाने की अत्यधिक जरूरत जरूरत है जिससे किसान की मेहनत और लागत बर्बाद ना होने पाये।तकनीकी सहायक विनीत पाठक तकनीकी कृषि पर विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि रबी की फ़सल सामान्यतः अक्तूबर-नवम्बर के महिनों में बोई जाती हैं। इन फसलों की बुआई के समय कम तापमान तथा पकते समय खुश्क और गर्म वातावरण की आवश्यकता होती है। गेहूँ, जौ, चना, मसूर, सरसों आदि की फसलें रबी की फ़सल मानी जाती हैं।उन्होंने किसानों को तकनीकी खेती करने पर जोर दिया।इस दौरान निर्मल चंद, सुशीला मिश्रा,दिनेश यादव, रामकुमार, रामराज चौधरी, परशुराम,मुबीन आदि प्रगतिशील किसान मौजूद रहे।

फोटो- किसान गोष्ठी को संबोधित करते प्रधान संगठन के जिला उपाध्यक्ष जफर आलम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here