नौकरी के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले के विरुद्ध एफआईआर दर्ज

0
341

बस्ती न्यूज
नौकरी के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले पर मुकदमा दर्ज

पर्दाफ़ाश न्यूज
ग्यात हो कि अनीता देवी प्रोपराइटर गनेश आटो पार्ट्स जो कि मूल रूप से ग्राम बाघाडीहा, पोस्ट मल्हवार, थाना रूधौली की निवासी हैं और वर्तमान में बस्ती शहर के गांधीनगर स्थिति पूनम भवन सन्तपुर गदहाखुर्द में विचित्र मणि त्रिपाठी जी के मकान में रह रही हैं इनके पति अखिलेश पाण्डेय व बेटे विमल पाण्डेय ने मिलकर बस्ती मेडिकल कालेज में वार्डव्वाय व बैंक में चपरासी की नौकरी दिलाने का झांसा देकर बीते जुलाई माह 2019में अनूप शुक्ल पुत्र तिलकराम शुक्ल निवासी ग्राम सहरायें पो.संग्रमापुर जनपद बस्ती से 3लाख व उनके पहचान के अन्य लडकों क्रमशः अतुल पाण्डेय से 3.90लाख आलोक शुक्ल से 4 लाख दीपक शर्मा से 1लाख प्रवीण पाण्डेय से 1 लाख कुल 12.90लाख रूपया नगद ले लिया इस बीच जनपद के जनप्रतिनिधियों का सिफारिसी पत्र लीक होने व कुछ लोगों के चयन की खबर आने के बाद इन लोगों ने अपना काम कराने या पैसा देने की बात की तो उन्होंने धैर्य बनाने की बात करते हुए कहा कि यदि काम नहीं हुआ तो पैसा वापस दिला दूंगा या अपनी शहर की जमीन बैनामा कर दूंगा जिसके सन्दर्भ में दोषी ने अनूप को दो लाख रूपया शीघ्र देने का आश्वासन लिखित में स्टाम्प पर दिया व क्रमशः अतुल पाण्डेय को 3.90लाख व आलोक शुक्ल को 4लाख तथा प्रवीण पाण्डेय को 36 हजार का चेक काटकर पन्द्रह दिनों में भुगतान की बात की किन्तु खाते में पर्याप्त धन है था ही नहीं फलतः पीडित बच्चे समाजसेवी चन्द्रमणि पाण्डेय सुदामाजी से मिले तो उन्होने एएसपी को ग्यापन व साक्ष्य के तौर पर आडियो वीडियो की सी.डी.सौंपकर मामले से अवगत कराया सी.ओ.हर्रैया की जांच में दोषी न न केवल अपना जुर्म कबूल किया अपितु 27जनवरी को समाजसेवी व अन्य लोगों के मध्य तीन माह में धन वापसी की बात कि किन्तु हर बार की तरह वादा वादा ही रहा एक माह की अवधि में एक पैसा भी वापस नहीं किया फलतः अनूप शुक्ल ने उक्त जालसाजों की गतिविधियों की जांच कराते हुए विधिक कार्यवाही सुनिश्चित कराते हुए पैसा दिलाने का प्रार्थना पत्र थान्हाध्यक्ष हर्रैया को सौंपा तथ्यों के आधार पर अनीता देवी उनके पति अखिलेश व पुत्र विमल पाण्डेय के उपर भा.दं.सं.1860की धारा 406 के तहत थान्हा हर्रैया में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here