किसानों की समस्याओं को लेकर भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) ने उप जिलाधिकारी को संबोधित तहसीलदार को सौंपा 11 सूत्रीय ज्ञापन

0
305

पर्दाफ़ाश न्यूज़ टीम
शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर

बीते शनिवार को भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने कई अहम बिंदुओं पर उप जिलाधिकारी शोहरतगढ़ के नाम से संबोधित ज्ञापन तहसीलदार शोहरतगढ़ को सौंपा।

उक्त ज्ञापन में प्रधानमंत्री सहित मुख्यमंत्री को भी संबोधित किया गया है। ज्ञापन के माध्यम से कहा गया कि किसानों की पिछले कई माह से लंबित मांग पत्रों के निस्तारण कराया जाने व जिला एवं प्रदेश की किसानों से जुड़ी समस्याओं पर भारतीय किसान यूनीयन तहसील अध्यक्ष की अध्यक्षता में शोहरतगढ़ तहसील प्रांगण में मासिक किसान पंचायत लगाई गई, जिसमें विभिन्न समस्याओं पर विचार-विमर्श कर उसके निस्तारण की मांग की गई, जिसमे निम्न मांगो का उल्लेख किया गया है।

  1. यह कि किसान आयोग का अतिशीघ्र गठन किया जाए और स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिश अति शीघ्र लागू किया जाए।
  2. यह की लघु एवं सीमांत सभी किसानों का ₹100000 (एक लाख) तक का ऋण माफ किया जाए।
  3. यह की सभी किसानों को बैंक से बिना ब्याज के ऋण दिलाया जाए।
  4. यह कि किसानों की फसलो का लागत मूल्य का 2 गुना मूल्य अति शीघ्र एमएसपी रेट निर्धारित किया जाए।
  5. किसानों की न्यूनतम आय ₹18000 सुनिश्चित किया जाए।
  6. 60 वर्ष आयु पूर्ण होने के पश्चात सभी किसानों को ₹5000 प्रति माह मासिक पेंशन दिलाया जाए।
  7. किसान सम्मान निधि योजना में राज सरकार का अंशदान बढ़ाकर ₹10000 कराया जाए।
    8.देश की राज्य सभा में उत्कृष्ट कार्य करने वाले किसानों को मनोनीत किया जाए तथा राज्यों की विधान परिषदों में किसानों के लिए सीट निर्धारित किया जाए।
  8. देश के बड़े-बड़े उद्योगपतियों का कर्ज माफ हो सकता है तो किसानों का क्यो नही? किसानों को भी सभी बैंकों के कर्ज मुक्त किया जाए।
  9. गरीबों के लिए बनाए गए जन कल्याणकारी योजना विधवा व वृद्धा पेंसन को बढ़ाकर ₹1500 प्रतिमाह किया जाए।
  10. जनपद सिद्धार्थनगर तहसील के अंतर्गत ग्राम जमुनी के पोखरी गाटा संख्या 255क पर दो बार माo उच्च न्यायालय, इलाहाबाद के आदेश पर शोहरतगढ़ तहसील प्रशासन द्वारा हटवाने के बावजूद दबंगो ने दुबारा उक्त पोखरी में आने जाने का संपूर्ण मार्ग पर अबैध निर्माण कर लिया है जिलाधिकारी महोदय ( न्यायालय जिला मजिस्ट्रेट) के आदेश का अनुपालन करते हुए अविलंब उक्त पोखरी पर से संपूर्ण अबैध निर्माण को हटाने की कृपा करें तथा कब्जा न छोड़ने पर एफ आई आर दर्ज कराया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here